Pic credit: Getty images

पहले दो मुकाबलो में हार के बाद अब भारतीय टीम इंग्लैंड की मेजबानी में तीसरा टेस्ट मुकाबला खेलने ट्रेंट ब्रिज पहुंच चुकी हैं। भारतीय टीम को बीती रात पूर्व भारतीय कप्तान अजित वाडेकर के निधन की खबर मिली जिसके बाद पूरी क्रिकेट टीम दुखी दिखी।

Pic credit: Getty images

प्रसिद्ध भारतीय कप्तान अजित वाडेकर कल मुम्बई के जसलोक अस्पताल में लंबे समय की बीमारी के बाद हमलोगों के बीच से चले गए। भारत के लिए 37 टेस्ट मुकाबले खेलने वाले वाडेकर ने 1970 के दशक में वेस्टइंडीज और इंग्लैंड के खिलाफ भारत को टेस्ट श्रृंखला में जीत दिलाई।

भारतीय टीम ने गुरुवार को प्रैक्टिस से पहले रखा दो मिनट का मौन

दरअसल 5 मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा मुकाबला खेलने भारत इंग्लैंड के ट्रेंट ब्रिज पहुंच चुका हैं। आपको बता दे कि गुरुवार को प्रैक्टिस से पूर्व टीम इंडिया ने अजित वाडेकर की आत्मा की शांति के लिए मैदान पर दो मिनट का मौन रखा।

भारत के इस पूर्व कप्तान ने अपने 1970-71 की कप्तानी के दौरान भारत को लगातार 3 टेस्ट श्रृंखला में जीत दिलाई हैं। आपको बता दे कि ऐसा करने वाले वाडेकर पहले भारतीय कप्तान हैं।

वाडेकर का क्रिकेट कैरियर

वाडेकर ने भारत के लिए कुल 37 टेस्ट मुकाबलो में 31.07 की औसत से 2113 रन बनाए हैं। वहीं दो एकदिवसीय मुकाबलो में 36.5 की औसत से 73 रन बनाए हैं।

Pic credit: times of india

1966 से 1974 तक यह भारत के लिए खेले। बीसीईसीईआई इन्हें लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड से भी सम्मानित कर चुकी हैं।

ट्वीट कर सबने दिखाया अपना दुख

भारतीय टीम के कोच रवि शास्त्री ने कहा कि ” भारतीय क्रिकेट के लिए यह बहुत दुखद दिन हैं। आज हमने अपने सबसे सफल कप्तानों में से एक को खोया हैं। मैं पूरे परिवार के लिए शौक जताता हूँ।”

लॉर्ड्स में भारतीय टीम की दोनों पारियों में सबसे अधिक रन मारने वाले अश्विन ने ट्वीट कर कहा ” अजित वाडेकर के निधन के बारे में सुन बहुत दुख हुआ। उनकी आत्मा को शांति मिले और मैं शौक व्यक्त करता हूँ।

 

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *