Wriddhiman Saha

भारतीय टीम के टेस्ट क्रिकेट में सेकेंड च्वॉइस विकेटकीपर रिद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) को टीम का प्रतिनिधित्व करने का इतना मौका नहीं मिला. पहले महेंद्र सिंह धोनी की वजह से उनको प्लेइंग-11 में जगह नहीं मिलती थी और अब धोनी के चेले ऋषभ पंत ने टेस्ट टीम में अपनी जगह पक्की कर रखी है. ऐसे में मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार भारतीय टीम मैनेजमेंट ने साहा (Wriddhiman Saha) को इस बात की पुष्टि कर दी है कि वो टीम इंडिया के फ्यूचर प्लान में फिट नहीं बैठ रहे, उनकी जगह अब किसी और को टीम में बतौर सेकंड विकेटकीपर शामिल किया जाएगा.

Wriddhiman Saha को लेकर सैयद किरमानी ने दिया बड़ा बयान

syed kirmani-Wriddhiman Saha

आपको बता दें कि अब शायद ही रिद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) को भारतीय टीम के लिए फिरसे खेलने का मौका मिलेगा. ऐसे में साहा का करियर खतम होने के कगार पर है. रिद्धिमान साहा को टीम से इस तरीके से बाहर करने पर भारतीय टीम के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज़ सैयद किरमानी को बहुत दुख हुआ है.

सैयद किरमानी ने इस संबंध में मिड-डे से बात करते हुए कहा कि, “इसमें कोई शक नहीं है कि साहा एक शानदार विकेटकीपर हैं. हालांकि, पंत आक्रामक बल्लेबाज हैं और इसी वजह से उन्हें ज्यादा मौके मिल रहे हैं. 37 साल की उम्र में भी साहा बेस्ट विकेटकीपर हैं, उन्हें निराश नहीं होना चाहिए. दिनेश कार्तिक और पार्थिव पटेल को भी इसी तरह से हटाया गया था.”

इसके बाद उन्होंने साहा की ज़बरदस्त तरीके से प्रशंसा की, कहा कि रिद्धिमान साहा ने पिछले कुछ सालों में टीम के लिए काफी अच्छा प्रदर्शन करके दिखाया है और वह हमेशा साहा को एक बेहतरीन विकेटकीपर के रूप में याद करेंगे.

रिद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) के संबंध में सैयद किरमानी ने कहा कि,

“आपने टीम इंडिया के लिए बीते कुछ सालों में शानदार खेल दिखाया है. आपको ड्रॉप किया गया क्योंकि आप एक खास ग्रुप का हिस्सा नहीं थे. आप राजनीति का शिकार हुए. मैं हमेशा आपको एक शानदार विकेटकीपर के तौर पर याद करूंगा.”

रिद्धिमान साहा का टेस्ट में भारतीय टीम के लिए प्रदर्शन

Wriddhiman Saha

रिद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) ने अब तक भारतीय क्रिकेट टीम के लिए टेस्ट क्रिकेट में 40 मुकाबले खेले है. जिसमें उन्होंने 29.4 की औसत से बल्लेबाज़ी करते हुए 1353 रन बनाए हैं. साथ ही साहा ने अपने टेस्ट करियर में 6 अर्धशतक और 3 शतक भी जड़े हैं. वहीं उनका टेस्ट क्रिकेट में बेस्ट बैटिंग स्कोर 117 है.

इसी के साथ अगर उनकी विकेटकीपिंग की बात करें तो साहा ने टेस्ट क्रिकेट में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए 40 मैचों में 92 कैच लपके हैं, 1 रनऑउट किया है, जबकि 12 स्टम्पिंगस की हैं. 37 वर्षीय रिद्धिमान साहा एक बहुत ही काबिल विकेटकीपर बल्लेबाज़ हैं. इन्होंने आईपीएल में भी अपने अच्छे प्रदर्शन से सबको काफी प्रभावित किया है, लेकिन फिर भी इनको भारत के लिए T20 क्रिकेट में खेलने का अब तक मौका नहीं मिला.

शानदार पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज़ महेंद्र सिंह धोनी की वजह से पार्थिव पटेल, दिनेश कार्तिक समेत रिद्धिमान साहा को भी भारतीय टीम में खेलने का मौका नहीं मिला, जिसके चलते इन तीनों ज़बरदस्त खिलाड़ियों का करियर खराब हुआ है. बहरहाल, धोनी ने हमेशा अपनी कप्तानी और अच्छी बल्लेबाज़ी के चलते टीम में जगह बनाई है.