सिडनी-ऑस्ट्रेलिया

भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच हुए सिडनी टेस्ट मैच में जमकर विवाद हुआ था. इस दौरान ऑस्ट्रेलिया समर्थकों की ओर से भारतीय क्रिकेटरों के खिलाफ आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया गया था. जिसके चलते चौथे दिन 15 मिनट के लिए बीच में ही मैच को रोक दिया गया था. इस पूरे मामले की शिकायत भारतीय टीम के कप्तान और मैनेजमेंट की ओर से मैदान पर मौजूद अंपायरों से की गई थी.

सिडनी टेस्ट मैच में हुए दुर्व्यहार पर पहली बार आई जांच रिपोर्ट

सिडनी-ऑस्ट्रेलिया

इसके बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने इस घटना के बाद भारतीय टीम के खिलाड़ियों से इस दुर्व्यवहार की माफी मांगी थी. साथ ही मामले पर जांच के आदेश भी दिए थे. हाल ही में क्रिकेट ऑस्टेलिया की ओर से यह पुष्टि की गई है कि, सिडनी टेस्ट मैच के दौरान भारतीय क्रिकेट टीम के सदस्यों को नस्लीय दुर्व्यवहार का सामना करना पड़ा था.

खेल के तीसरे और चौथे दिन दर्शकों ने एससीजी मैदान पर जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद सिराज को लेकर नस्लीय टिप्पणी करने के साथ ही उन्हें अनैतिक शब्द भी बोले थे. इस वजह से टीम ने आधिकारिक तौर पर इस मामले की शिकायत भारतीय टीम ने दर्ज कराई थी.

आईसीसी को सौंपी गई जांच रिपोर्ट-भारतीय खिलाड़ियों पर की गई थी नस्लीय टिप्पणी

सिडनी-ऑस्ट्रेलिया

हालांकि शिकायत दर्ज कराने के बाद भी खेल के चौथे दिन मोहम्मद सिराज के साथ दर्शकों ने गलत व्यवहार किया. पहली बार इस मामले पर चल रही जांच के बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के इंटीग्रिटी एंड सिक्योरिटी के प्रमुख शॉन कैरोल मे आज यानी बुद्धवार को सिडनी टेस्ट मैच में हुए विवाद को लेकर नई जानकारी साझा की है.

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने बयान जारी कर यह बात कही है कि,

‘हमनें सिडनी टेस्ट में भारतीय टीम के खिलाड़ियों के साथ हुए अनैतिक व्यवहार के खिलाफ जांच करने के बाद इससे जुड़ी सारी रिपोर्ट आईसीसी को सौंप दी है’.

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की तरफ से आईसीसी को सौंपी गई रिपोर्ट में स्पष्ट किया गया है कि, ‘सिडनी टेस्ट मुकाबले में भारतीय टीम को नस्लीय टिप्पणियों का सामना करना पड़ा था’.

घटना की जांच अभी भी जारी

सिडनी-ऑस्ट्रेलिया

सीए की जांच में यह भी दर्ज है कि,

‘सीसीटीवी फुटेज, डेटा और दर्शकों की गवाही से जुड़ी जांच अभी जारी है, इस पूरी घटना के जिम्मेदार लोगों का पता लगाने का प्रयास कर रहे हैं. ऐसे में जो भी अधिकारी CA के एंटी-उत्पीड़न कोड का उल्लंघन करता पाया गया, उसे लंबे प्रतिबंधों, आगे के बैन समेत रेफरल का भी सामना करना पड़ सकता है’.

घटना के बाद ही क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने भी भारतीय क्रिकेट बोर्ड से ऐसे बर्ताव के लिए माफी मांगी थी. बीसीसीआई के नाम एक खुला पत्र जारी करते हुए उन्होंने, भारत को अपना सच्चा दोस्त बताया था. दरअसल सिडनी टेस्ट मैच के दौरान आखिरी दिन हनुमा विहारी और आर अश्विन ने बल्लेबाजी करते हुए इस मुकाबले को ड्रा करवा दिया था.