आईसीसी महिला विश्वकप 2017 का आज फाइनल मैच भारत और इंग्लैंड की महिला टीम के बीच लॉर्ड्स के मैदान में खेला जा रहा है, अगर भारतीय टीम आज मेजबान इंग्लैंड को हरा देगी तो भारतीय महिला टीम इतिहास रचते हुए पहली बार आईसीसी महिला विश्वकप की चैंपियन बनेगी.

फिलहाल दोनों ही टीमों के बीच बल्ले व गेंद की अच्छी जंग चल रही है, मेजबान इंग्लैंड की टीम ने इस फाइनल मैच में टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया, मेजबान इंग्लैंड की शुरुआत तो सधी हुई रही और उसने 47 रन तक कोई विकेट नहीं खोया मगर 63 रन तक पहुँचते – पहुंचते मेजबान इंग्लैंड ने तीन विकेट गवा दिए है.

तीसरा विकेट गिराने में सुषमा ने निभाई अहम भूमिका 

तीसरा विकेट गिरने में सबसे बड़ा हाथ अगर किसी का रहा था तो वो विकेटकीपर बल्लेबाज सुषमा वर्मा का रहा क्योंकि इंग्लैंड की कप्तान हिथर नाईट को पूनम यादव की 16.1 गेंद पर अंपायर ने एलपीडब्लू आउट नहीं करार दिया जिसके बाद विकेटकीपर सुषमा वर्मा ने कप्तान मिताली राज सहित पूरी टीम को डीआरएस लेने के लिए कहा सुषमा वर्मा का ये फैसला सही साबित हुआ और भारत को  इंग्लैंड की कप्तान हिथर नाईट का महत्वपूर्ण विकेट हासिल हुआ.

ये रहा वीडियो 

https://twitter.com/abhishkpandey29/status/889076445196242945

विकेटकीपर बल्लेबाज सुषमा वर्मा द्वारा लिया गया ये डीआरएस भारत के लिए बहुत फायदेमंद साबित हुआ, और सुषमा वर्मा के इसी फैसले की तारीफे ट्विटर पर भी काफी हो रही है. उनका ये वीडियो भी तेजी से वायरल भी हो रहा है.

महेन्द्र सिंह धोनी की झलक आई नजर 

विकेटकीपर बल्लेबाज सुषमा वर्मा द्वारा लिए गए इस डीआरएस में भी महेन्द्र सिंह धोनी की झलक नजर आई, उन्होंने धोनी जैसी समझदारी दिखाते हुए सही समय पर भारत के लिए डीआरएस लिया और इंग्लैंड की कप्तान हिथर नाईट का महत्वपूर्ण विकेट भारत को दिलाया.

महेन्द्र सिंह धोनी को ही मानती है आदर्श

विकेटकीपर बल्लेबाज सुषमा वर्मा अपना आदर्श भारतीय पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी को ही मानती है, उन्ही को देखते हुए सुषमा वर्मा ने एक विकेटकीपर बल्लेबाज बनने का फैसला किया है.