सुरेश रैना

भारतीय टीम के मध्यक्रम के बल्लेबाज सुरेश रैना और पूर्व भारतीय मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद के बीच जैसे बहस चल रही है. रैना का जवाब प्रसाद ने दिया है. अब एक बार फिर से सुरेश रैना उनपर भड़के हैं. जहाँ पर उन्होंने बोल दिया है की कोई समस्या थी तो मेरे सामने ही बोल देते.

सुरेश रैना ने चयनकर्तायों पर दिया बड़ा बयान

इंग्लैंड के खिलाफ 2018 में खेली गयी सीरीज के बाद से सुरेश रैना को अचानक ही टीम से बाहर कर दिया गया. उसके बाद उनकी वापसी टीम में नहीं हुई. फ़िलहाल घुटने की सर्जरी के कारण वो लंबे समय से क्रिकेट से दूर नजर आ रहे है. इसी बीच रैना ने चयनकर्तायों पर सीनियर खिलाड़ियों की इज्जत नहीं करने का आरोप लगाया था. जिसको लेकर बहस चल रही है. अब एक बार फिर से सुरेश रैना ने फैनकोड को दिए इन्टरव्यू में कहा कि

मुझे लगता है कि कहीं ना कहीं बातचीत होनी चाहिए थी. मैं कह रहा हूँ की दिग्गज खिलाड़ियों ने मेरा समर्थन किया, लेकिन चयनकर्ता मेरे हाथ में नहीं है. कई महान चयनकर्ता रहे हैं, दिलीप वेंगसरकर ने खिलाड़ियों का समर्थन किया, किरण मोरे सर, कई अच्छे चयनकर्ता थे जो खिलाड़ियों से बातचीत करते थे, चाहे वह जूनियर हो या सीनियर.

चयनकर्तायों से ये बोले अब सुरेश रैना

खिलाड़ियों से उनके सामने ही सभी बातें करने की सलाह देते हुए अब दिग्गज सुरेश रैना ने भारतीय टीम के चयनकर्तायों पर कहा कि

एक चयनकर्ता को आमने-सामने होकर बात करनी चाहिए, मैं इसे पसंद करूंगा क्योंकि मैंने इसे अपने पिता और एमएस धोनी से सीखा है. आप मुझे मेरे सामने बोलो अगर कोई समस्या है तो मैं उसे हल करूँगा. विराट ने मुझे अपनी फिटनेस में सुधार करने के लिए कहा फिर मैंने उसमें काम किया. इसलिए मुझे उस समय खेलने का मौका मिला. रोहित हमेशा से ही मेरी प्रतिभा को जानता है. मुझे किसी भी खिलाड़ी के साथ कोई समस्या नहीं है. लेकिन एक चयनकर्ता के रूप में उन्हें अधिक प्रोफेशनल होना चाहिए.

सवालों के जवाब चाहते हैं अब रैना

अचानक ही भारतीय टीम से बाहर कर दिया गये सुरेश रैना अब अपने सभी सवालों का जवाब चाहते हैं. अच्छे लय में नजर आने के बाद टीम से बाहर होने के कारण जानने के बारें में उन्होंने कहा कि

मैं किसी को निशाना नहीं बना रहा हूं, मैं सिर्फ इतना कह रहा हूं कि कभी-कभी आप देश को इतना कुछ देते हैं, आप इतनी मेहनत करते हैं, परिवार से दूर रहते हैं, मुझे व्यक्तिगत रूप से लगता है कि हमें इन सवालों के जवाब पाने चाहिए