Suresh Raina Birth Day Special

टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर सुरेश रैना (Suresh Raina) रविवार यानी 27 नवंबर को अपना 35वां जन्मदिन मना रहे हैं। रैना का जन्म 27 नवंबर 1986 को श्रीनगर  हुआ था। साल 2005 में क्रिकेट की दुनिया में अपना पहला कदम रखने वाले इस धाकड़ खिलाड़ी ने अपने कार्यकाल में कई बड़े-बड़े कारनामे किए हैं।

रैना ने अपने विस्फोटक प्रदर्शन के दम पर क्रिकेट जगत में एक अलग ही रुतबा हासिल किया है। उनके जन्मदिन के इस अवसर पर इस लेख के माध्यम से हम आपको रैना के मामूली खिलाड़ी से लेकर मिस्टर आईपीएल बनने तक के सफर के बारे में बताने जा रहे हैं। तो आइए जानते हैं कि कैसे रैना बने मिस्टर आईपीएल…..

Suresh Raina ने 2010 में रखा था क्रिकेट की दुनिया में पहला कदम

Suresh Raina Captaincy record

सुरेश रैना (Suresh Raina) का जन्म कश्मीर के श्रीनगर में 27 नवंबर 1986 को हुआ था। उनके पिता कश्मीरी पंडित हैं। रैना को बचपन को से क्रिकेट खेलने का चस्का था और इसी वजह से वह अपना घर-परिवार छोड़कर गाजियाबाद रहने चले गए। रैना के सिर पर क्रिकेट का भूत सवार तो बचपन से ही था, लेकिन उन्हें इसको गंभीरता से लेना साल 1999 में शुरू किया। फिर उनका साल 2002 में अंडर-16 में चयन शुरू हुआ। यहां दमदार प्रर्दशन दिखाने के बाद उनके लिए अंडर-19 के दरवाज़े खुले और उन्हें 2004 में अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप टीम में शामिल किया गया।

Suresh Raina ने की थी आत्महत्या करने की कोशिश

Suresh Raina seeks permission from BCCI to play in BBL

सुरेश रैना (Suresh Raina) की जिंदगी कभी भी आसान नहीं रही है, उनके साथ दिल-दहला देने वाली कई घटनाएं हुई है। इसी बीच उनके साथ एक ऐसी दुर्घटना घटी जिसकी चलते वह आत्महत्या करने जैसा कदम उठाने वाले थे। दरअसल, हुआ कुछ यूं कि जब रैना 13 वर्ष के थे, तो वह 12 से 15 वर्ष की उम्र के बच्चों के साथ ट्रेन से अगर जा रहे थे। अपनी यात्रा के दौरान वह ट्रेन के फर्श पर लेते हुए थे। ऐसे में उनकी आंख लग गई और वह सो गए।

हालांकि जब वह उठे तो उन्होंने देखा की उनके दोनों हाथ बंधे हुए हैं और एक तगड़ा-तंदुरुस्त बच्चा उनकी छाती पर सवार उनके मुंह पर पेशाब कर रहा था। वहीं, घटनास्थल पर मौजूद सभी बच्चे उन्हें देख ठहाके लगा रहे थे। काफी मशक्कत करने के बाद रैना ने अपने आपको बच्चे के चंगुल से बचा लिया। पर वह इस घटना को अपने दिल और दिमाग से ना निकाल सके। इस वजह से उनके दिमाग में हॉस्टल छोड़ आत्महत्या करने का ख्याल आया।

Suresh Raina ने राहुल द्रविड़ की कप्तानी में किया था डेब्यू

Suresh Raina Captaincy

हर क्रिकेट खिलाड़ी का सपना होता है कि वह अपना क्रिकेट डेब्यू मैच यादगार बनाए। अपने क्रिकेट करियर का पहला मुकाबला सदैव के लिए यादगार बनाने के लिए खिलाड़ी काफी मेहनत करता है। ऐसा ही कुछ मिस्टर आईपीएल ने भी किया। लेकिन वह अपने पहले मैच को एक अच्छी याद में तब्दील करने में बुरी तरह नाकाम रहे।

रैना ने जब क्रिकेट डेब्यू किया तब टीम इंडिया की कमान राहुल द्रविड के हाथों में थी। उनकी अगुवाई में रैना ने साल 2005 में श्रीलंका के खिलाफ अपने क्रिकेट करियर का पहला मुकाबला खेला। उन्होंने एकदवसीय मैच खेल क्रिकेट जगत में प्रवेश किया। लेकिन रैना का डेब्यू मैच उनके लिए किसी बुरे सपने से कम नहीं रहा। क्योंकि वह बिना खाता खोले ही पवेलियन लौट गए।

Suresh Raina को टी20 क्रिकेट में है बादशाहत हासिल

Suresh Raina

सुरेश (Suresh Raina) अपने डेब्यू मैच में भले ही फ्लॉप हुए हो लेकिन उन्हें क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप यानी टी20 में बादशाहत हासिल है। उन्होंने टी20 क्रिकेट में कई बड़े-बड़े मुकाम हासिल किए हैं। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उनकी एक अलग ही जगह है। टी20 वर्ल्ड कप में साउथ अफ्रीका के खिलाफ रैना ने एक बड़ी पारी खेल टी20 क्रिकेट की दुनिया में एक खास उपलब्धि अपने नाम दर्ज की थी।

इस मैच में शतकीय पारी खेल वह टी20 में नंबर तीन पर बल्लेबाजी करते हुए शतक ठोकने वाले पहले बल्लेबाज थे। टी20 के 78 मुकाबले खेलते हुए रैना ने 1190 रन बनाए हैं। वहीं 226 वनडे मैच में उनके बल्ले से 5615 रन निकले हैं, जबकि टेस्ट की 31 पारियों में उनके नाम 768 रन दर्ज है। रैना टेस्ट ODI और T20 क्रिकेट में शतक लगाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज थे।

क्यों कहलाते हैं Suresh Raina Mr. IPL?

Suresh Raina retires from Indian cricket

फैंस के बीच टीम इंडिया का बाएं हाथ का यह खिलाड़ी मिस्टर आईपीएल के नाम से मशहूर है। ये तो सब ही जानते हैं कि सुरेश मिस्टर आईपीएल कहलाते हैं, लेकिन क्या आप इसकी वजह जानते हैं? तो आपको बता दें कि रैना मिस्टर आईपीएल इसलिए कहलाते हैं क्योंकि उन्होंने लगातार कई सालों तक इंडिया प्रीमियर लीग में विस्फोटक प्रदर्शन दिखाया और जमकर रन बटोरे। आईपीएल रैना की जिंदगी के टर्निंग पॉइंट में से एक रहा है।

रैना ने सबसे पहले आईपीएल में 5000 रन पूरे किए, जिसके बाद उन्हें मिस्टर आईपीएल की उपाधि दी गई। लगातार 7 सीजन में 400 से ज्यादा रन बनाने वाले रैना सीएसके के इकलौते खिलाड़ी हैं। उन्होंने टी20 में 6000 और 8000 रन दर्ज किया है। उन्होंने सीएसके, गुजरात लायंस, टीम इंडिया और उत्तर प्रदेश के लिए खेलते हुए यह रिकॉर्ड बनाया था।

Suresh Raina-MS Dhoni के बीच है गहरी दोस्ती

suresh raina-ms dhoni

सुरेश रैना (Suresh Raina) के क्रिकेट करियर की बात हो और एमएस धोनी का जिक्र कहीं भी ना हो ये तो नामुमकिन है। रैना और माही क्रिकेट जगत के बीच शोले के जय-वीरू जैसी दोस्त है। इन दोनों ही खिलाड़ियों के बीच के तालमेल काफी अच्छे हैं। धोनी रैना के फेवरेट कप्तान होने के साथ-साथ बेस्ट फ्रेंड भी हैं। इनकी दोस्ती इतनी गहरी है कि रैना ने भी क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट से अलविदा कहा था जब एमएस धोनी ने कहा।

उन्होंने धोनी के साथ ही 15 अगस्त 2021 को संन्यास का ऐलान किया था। हालांकि इसके बाद भी वह आईपीएल के जरिए क्रिकेट मैदान से जुड़े हुए थे। लेकिन आईपीएल 2022 में अनसोल्ड रहने की वजह से उन्होंने आईपीएल से भी रिटायरमेंट ले लिया।

One reply on “बचपन में छोड़ा घर, आत्म हत्या की करी कोशिश, Suresh Raina के जन्मदिन पर जानिए उनका क्रिकेट की दुनिया में नाम बनाने का संघर्ष”

Comments are closed.