Supernovas won by 4 runs against Velocity in final
Supernovas won by 4 runs against Velocity in final

Supernovas vs Velocity: महिला टी-20 चैलेंज 2022 का खिताबी मुकाबला वेलॉसिटी और सुपरनोवाज (Supernovas vs Velocity) के बीच खेला गया. इस चैंपियन मुकाबले में टॉस जीतकर वेलॉसिटी ने पहले गेंदबाजी का फैसला किया था और सुपरनोवाज को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया था. निर्णय के मुताबिक पहले बल्लेबाजी करने उतरी सुपरनोवाज की शुरूआत बेहद धीमी रही. लेकिन, डिएंड्रा डॉटिन की अर्धशतकीय पारी और हरमनप्रीत की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की बदौलत सुपरनोवाज ने 7 विकेट पर 165 रन बनाए. जीत के लिए वेलॉसिटी को 166 रन की दरकार थी. जिसका पीछा करते हुए….

हरमनप्रीत कौर और डॉटिन ने खेली तेज तर्रार पारी

Deandra Dottin

वेलॉसिटी और सुपरनोवाज (Supernovas vs Velocity) के बीच खेले गए महिला टी-20 चैलेंज 2022 के फाइनल मुकाबले में जबरदस्त रोमांच देखने को मिला. हरमनप्रीत की कप्तानी वाली टीम ने भले ही टॉस नहीं जीता. लेकिन, मैच में दबदबा कायम रहा. वहीं टॉस जीतने के बाद भी दीप्ति शर्मा की कप्तानी वाली टीम की किस्मत बेहद खराब रही. टॉस हारकर अपने तीसरे खिताब पर कब्जा करने के इरादे से उतरी सुपरनोवाज की शुरूआत काफी धीमी रही.

पॉवर प्ले के बाद डॉटिन ने अपने बल्ले का कमाल दिखाया और ताबड़तोड़ अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए अपनी टीम के जमकर रन बटोरे. पहले उन्होंने महज 33 गेंदों का सामना करते हुए एक लाजवाब अर्धशतक जड़ा. वहीं सलामी बल्लेबाजी प्रिया पुनिया ने 28 रन का योगदा दिया. जबकि कप्तान हरमनप्रीत कौर ने 29 गेंद में 43 रन की आतिशी पारी खेलते हुए अहम योगदान दिया.

जीत के लिए सुपरनोवाज ने दिया था 166/7 रन का लक्ष्य

Supernovas set Velocity a target of 166/7

सुपरनोवाज (Supernovas vs Velocity) की ओर से लोअर ऑर्डर में बल्लेबाजी करने उतरीं पूजा वस्त्राकर का बल्ला कुछ खास कमाल नहीं कर सकीं और 5 रन बनाकर पवेलियन लौट गईं. एकलस्टन 2 रन बनाकर सस्ते में निपट गईं. डेथ ओवर के 5 ओवर में 5 विकेट गंवाकर हरमनप्रीत कौर की टीम 34 रन ही बना सकी. निर्धारित 20 ओवर में सुपरनोवाज ने 7 विकेट पर 165 रन बनाए और जीत के लिए 166 रन का लक्ष्य दिया. वहीं वेलॉसिटी की ओर से कप्तान दीप्ति शर्मा, केट क्रॉस और सिमरन बहादुर ने गेंदबाजी करते हुए 2-2 विकेट सफलता लगी.

तेज-तर्रार शुरूआत के बाद भी बिखर गई वेलॉसिटी की टीम

Velocity

सुपरनोवाज (Supernovas vs Velocity) की ओर से मिले 166 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी वेलॉसिटी की तरफ से शेफाली वर्मा और यास्तिका भाटिया ने मिलकर तेज शुरुआत की. लेकिन, शेफाली तीसरे ओवर में आठ गेंदों पर 15 रन बनाकर वापस पवेलियन लौट गईं. इसके बाद यास्तिका भी ज्यादा देर तक क्रीज पर नहीं टिक सकीं और चौथे ओवर में 9 गेंद में 13 रन बनाकर आउट हो गई.

इसके बाद तो विरोधी गेंदबाजों ने वेलॉसिटी (Supernovas vs Velocity) को मैच में वापसी का मौका ही नहीं दिया. किरण नवगिरे ने भी बल्ले से निराश किया और 13 गेंदों का सामना करने के बाद भी बिना खाता खोले पवेलियन लौट गई. नटकान चंथाम भी महज छह रन बनाकर सस्ते में निपट गई. कप्तान दीप्ति शर्मा पर टीम का मोर्चा संभालने की जिम्मेदारी जरूर थी. लेकिन, 2 रन पर उनकी पारी भी खत्म हो गई. इस दौरान लॉरा वुलफ़ार्ट ने मुश्किल समय में जरूर शानदार अर्धशतकीय (65) पारी खेली.

आखिर तक लड़ाई लड़ने के बाद भी वेलॉसिटी के ट्रॉफी जीतने का सपना हुआ चकनाचूर

Supernovas won by 4 runs

हालांकि आखिर में सिमरन बहादुर ने भी लॉरा के साथ मिलकर बल्ले से कमाल दिखाया लेकिन, अपनी टीम को चैंपियन नहीं बना सकीं. वहीं अंत में सुपरनोवाज (Supernovas vs Velocity) ने इस मुकाबले को 4 रन से अपने नाम कर लिया और ये तीसरी बार है जब हरमनप्रीत कौर की फ्रेंचाइजी ने इस खिताब को अपने नाम किया है.