sunrisers hyderabad-IPL

आरसीबी (RCB) और सनराइजर्स हैदराबाद (Sunrisers hyderabad) के बीच आईपीएल 2021 (IPL 2021) का छठा मैच चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम में खेला गया था. इस मुकाबले में टॉस जीतकर डेविड वॉर्नर (David Warner) ने पहले गेंदबाजी का फैसला किया था. पहले बल्लेबाजी करने उतरी विराट टीम ने 8 विकेट के नुकसान पर 149 रन का लक्ष्य दिया था. जिसका पीछा करने उतरी हैदराबाद की टीम महज 6 रन से हार गई.

मीडिल ऑर्डर में खल रही इस स्टार गेंदबाज की कमी

sunrisers hyderabad

इस दौरान टीम में मिडिल ऑर्डर पूरी तरह से फेल नजर आया. पहले मैच में भी केकेआर के खिलाफ टीम को नजदीकी 10 रन से हार का सामना करना पड़ा था. इस मुकाबले में पहले बल्लेबाजी करते हुए कोलकाता ने 6 विकेट के नुकसान पर 187 रन का लक्ष्य दिया था. जिसका पीछा करने उतरी हैदराबाद की टीम सिर्फ 10 रन से हार गई थी. इस दौरान भी मीडिल ऑर्डर में टीम चेन्नई की पिच पर पूरी तरह से जूझते हुए नजर आई थी.

ऐसे में अगर केन विलियमसन प्लेइंग 11 का हिस्सा होते तो शायद टीम इतनी बुरी तरह से जीता हुआ मैच नहीं गंवाती और मनीष पांडे का भी आत्मविश्वास बरकरार रहता. इसका बड़ा उदाहरण विलियमसन ने बीते साल आईपीएल के आखिरी 2 मैच में भी पेश किए थे. आईपीएल 2020 में आखिरी दो मैच हैदराबाद (sunrisers hyderabad) ने आरीसीबी (RCB) और दिल्ली कैपिटल्स (DC) के खिलाफ खेले थे. इन दोनों ही मुकाबलों में केन विलियमसन की मौजूदगी थी.

बीते साल विलियमसन ने आखिर के दो मैच में इस तरह से किया था प्रदर्शन

photo 2021 04 15 17 07 01

6 नंवबर 2021 के मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए बैंगलोर ने 7 विकेट के नुकसान पर 131 रन का लक्ष्य दिया था. इस लक्ष्य का पीछा करने उतरी सनराइजर्स हैदराबाद (sunrisers hyderabad) ने 2 विकेट जल्द ही खो दिए थे. वॉर्नर सिर्फ 17 रन बनाकर आउट हो गए थो तो वहीं श्रीवत्स गोस्वामी बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए थे. लेकिन, मिडिल ऑर्डर में मनीष पांडे (Manish pandey) के साथ टीम की पारी को आगे बढ़ाते हुए विलियमसन ने  नाबाद 50 रन की पारी खेलते हुए टीम को जीत दिलाई थी.

इसके साथ ही आरसीबी को क्वालिफायर 1 से बाहर कर दिया था. इसके बाद फाइनल में जगह बनाने के लिए हैदराबाद दिल्ली कैपिटल्स से भिड़ी थी. पहले बल्लेबाजी करते हुए दिल्ली कैपिटल्स ने 3 विकेट के नुकसान पर 189 का लक्ष्य दिया था. इस स्कोर का पीछा करने उतरी सनराइजर्स हैदराबाद ने ओपनर के तौर पर जल्द ही प्रियम गर्ग और वॉर्नर के रूप में दो विकेट खो दिए थे. इसके बाद भी मनीष पांडे (21) के साथ मिलकर केन विलियमसन ने लंबी पारी खेली थी.

मुश्किल पिच पर भी खेलने की काबिलियत रखते हैं विलियमसन

photo 2021 04 15 17 07 04

हालांकि दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ वो टीम को जिता नहीं पाए थे. लेकिन, मीडिल ऑर्डर में उन्होंने बल्लेबाजी करते हुए 45 गेंद पर 67 रन बनाए थे. इस साल आईपीएल 2021 की बात करें तो सनराइजर्स हैदराबाद (sunrisers hyderabad) लगातार 2 मुकाबले हार चुकी है. इन दोनों ही मुकाबलों में मिडिल ऑर्डर में केन विलियमसन (Kane Williamson) जैसे दिग्गज बल्लेबाज की कमी साफतौर पर खलते हुए देखी गई है. क्योंकि विलियमसम में किसी भी पिच पर खेलने का अच्छा अनुभव है.

इसके साथ ही वो स्पिन और तेज दोनों ही गेंदबाजों को अच्छे से खेलने की क्षमता रखते हैं. जबकि 14 अप्रैल को खेले गए मैच में हैदराबाद ने मीडिल ओवर में तीन विकेट स्पिन गेंदबाज शाहबाज अहमद के ओवर में गंवा दिए थे. विलियमसन के इन आंकड़ों के आधार पर कहा जा सकता है कि, 14वें सीजन के इन दोनों ही मुकाबलों में वो मौजूद होते तो मुश्किल पिच होने के बाद भी टीम को जीत दिला सकते थे.