sunil gavaskar-virat kohli

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने बीते गुरूवार को अचानक से अपनी एक घोषणा से फैंस को चौंका दिया. अब सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) का बयान लोगों को और हैरान कर रहा है. टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup 2021) नजदीक है और उससे पहले मौजूदा कप्तान की अनाउंसमेंट कई तरह के संकेत दे रही है. इस विश्व कप के बाद उन्होंने भारतीय टी20 टीम की मेजबानी छोड़ने की अनाउंसमेंट कर दी है. उन्होंने ऐसा फैसला करने के पीछे की वजह कार्यभार को बताया है.

पूर्व कप्तान ने कोहली के मेजबानी छोड़ने पर दिया ऐसा बयान

sunil gavaskar

विराट कोहली की माने तो पिछले 5 से 6 सालों से वो तीनों फॉर्मेट की लगातार कप्तानी कर रहे हैं. जिसके कारण उन पर कार्यभार ज्यादा बढ़ गया था. इसलिए उन्होंने ऐसा फैसला किया. लेकिन, टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और मौजूदा कमेंटेटर को विराट के कप्तानी छोड़ने का कुछ और ही कारण दिखाई दे रहा है. उनका कहना है कि, शायद कोहली की टी20 और वनडे कप्तानी से बीसीसीआई और चयनकर्ता संतुष्ट नहीं हैं. यही कारण है कि उन्होंने एक ही फॉर्मेट से कप्तानी छोड़ने का फैसला किया है.

इस बारे में मीडिया रिपोर्ट्स की माने सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने अपने बयान में कहा है कि,

‘मैंने विराट कोहली का खत पढ़ा. विराट कोहली ने रवि शास्त्री, रोहित शर्मा, सौरव गांगुली और सेलेक्टरों से काफी चर्चा के बाद टी20 कप्तानी छोड़ने का निर्णय लिया है. पिछले 6 महीनों से उनकी टी20 और वनडे कप्तानी पर काफी बातचीत हो रही है. शायद विराट कोहली को इस बात का आभास हो गया था कि बीसीसीआई और चयनकर्ता उनकी वनडे और टी20 कप्तानी से संतुष्ट नहीं हैं. ये बड़ी वजह हो सकती है कि उन्होंने टी20 कप्तानी छोड़ी.’

विराट की वनडे कप्तानी भी मंडराया संकट?

photo 2021 09 17 09 43 46

इसी सिलसिले में आगे बात करते हुए सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने इस बात का भी संकेत दे दिया है कि, विराट कोहली की वनडे कप्तानी पर भी खतरा मंडरा रहा है. इस बारे में उन्होंने कहा कि,

‘विराट कोहली ने लिखा कि वो वनडे और टेस्ट की कप्तानी जारी रखना चाहते हैं. लेकिन, अब उनकी वनडे कप्तानी पर सेलेक्टर निर्णय करेंगे. उनकी टेस्ट कप्तानी पर कोई सवाल नहीं है. हमें देखना चाहिए कि वनडे कप्तानी में बदलाव होगा या नहीं.’

विराट कोहली के प्रति क्यों बढ़ रही सेलेक्टर्स की निराशा?

photo 2021 09 17 09 44 23

सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) के बयान के अलावा बात करें को विराट के बतौर कप्तान रिकॉर्ड की तो उन्होंने जबरदस्त प्रदरेशन किया है. बाइलेट्रल सीरीज हो या जीत प्रतिशत, हर लिस्ट में वो सबसे ऊपर दिखाई देंगे. लेकिन, कमी इसी बात की है कि, वो एक भी आईसीसी टूर्नामेंट अपने नाम नहीं कर सके हैं. विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया साल 2017 में चैंपियंस ट्रॉफी, 2019 में वर्ल्ड कप और 2021 में वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के करीब पहुंचकर भी इसे नहीं जीत सकी. अब टी20 वर्ल्ड कप 2021 में भी वो नाकामयाब हुए तो वनडे कप्तानी पर सवाल जरूर उठेंगे.