साल 2007 के टी20 विश्व कप में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया सेमीफाइनल आज तक क्रिकेट फैंस भुला नहीं पाए हैं. इस बात में कोई शक नहीं है कि जब जब भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीमें आमने सामने होती है, तब तब रोमांच सारी हादें पार कर देता है.

इस करो या मरो मुकाबलें में कहने तो टीम इंडिया के लगभग हर एक खिलाड़ी ने अपना अहम योगदान दिया था, लेकिन मैच के दौरान युवराज सिंह की आतिशी 30 गेंदों में खेली गयी 70 रनों की पारी और तेज गेंदबाज एस श्रीसंत का शानदार स्पेल कोई नहीं भुल सकता.

श्रीसंत ने फाइनल से जुड़ा एक किस्सा किया शेयर

सेमीफाइनल मैच के दौरान एस श्रीसंत ने बेहद ही काबिल ए तारीफ प्रदर्शन किया था और वह मात्र 12 रन खर्च करते हुए दो महत्वपूर्ण विकेट अपने नाम करने में सफल रहे थे. एस श्रीसंत हमेशा से ही मैदान पर आक्रामक और बेहद ही जोश में नजर आते थे.

हाल में ही काऊ कॉर्नर क्रॉनिकल से बात करते हुए एस श्रीसंत ने मैच से जुड़ा एक बहुत ही शानदार किस्सा शेयर किया. 37 वर्षीय पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा कि मैच से ठीक पहले एमएस धोनी ने भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जोश दिखाने की बात कही थी. श्रीसंत के अनुसार,

‘धोनी भाई ने भी चढ़ाया था उस मैच से पहले. वो बोले कि याद तू इधर-उधर आक्रमकता दिखाता है, अब ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ दिखा अपनी आक्रमकता. मेरे ख्‍याल से उन्‍होंने मुझमें चाबी भरने का काम किया था, जो काम कर गया. मैं सही समय पर जोश से भर गया और इसका टीम को खूब फायदा हुआ.’

इनका किया था शिकार

मैच में भारतीय टीम ने 188-5 का स्कोर बनाया था और ऑस्ट्रेलिया के सामने 189 रनों का लक्ष्य रखा था. ऑस्ट्रेलिया की टीम 173-7 का ही स्कोर बना सकी और धोनी एंड कंपनी ने यह मैच 15 रनों के अंतर से जीतकर फाइनल में प्रवेश किया.

एस श्रीसंत ने अपने दो विकेट के रूप में एडम गिलक्रिस्ट (22) और मैथ्यू हेडन (62) की बेशकीमती विकेट अपने नाम की थी. पूरे टूर्नामेंट में श्रीसंत ने सात मैचों में छह विकेट अपने नाम किये थे.

AKHIL GUPTA

क्रिकेट...क्रिकेट...क्रिकेट...इस नाम के अलावा मुझे और कुछ पता नहीं हैं. बस क्रिकेट...