इंग्लैंड एंड वेल्स में खेले गए विश्व कप में अफगानिस्तान क्रिकेट टीम का प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा। टीम ने प्वॉइंट्स टेबल में सबसे लास्ट रहते हुए टूर्नामेंट से विदाई ली। बिग इवेंट के साथ ही टीम के हैड कोस फिल सिमंस का कार्यकाल खत्म हो गया था और अफगानिस्तान बोर्ड ने उन्हें आगे के लिए जारी नहीं रखा। बोर्ड ने नए कोच के लिए आवेदन मंगाए थे और अब अफगानिस्तान की टीम के नए कोच के रूप में लांस क्लूजर को नियुक्त किया है।

लांस क्लूजर बने अफगानिस्तान के हेड कोच

विश्व कप के बाद अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने नए कोच के लिए आवेदन मंगाए थे। जिसमें कई आवेदन आए और इंटरव्यूज कंडक्ड कराने के बाद अब बोर्ड ने साउथ अफ्रीका के पूर्व ऑलराउंडर दिग्गज खिलाड़ी लांस क्लूजर को नया हेड कोच नियुक्त किया गया है।

स्टेनिकजई ने क्लूजनर पर विश्वास जताते हुए कहा, उनकी उपस्थिति से अगले साल होने वाले एशिया कप और ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 विश्व कप की तैयारी में राष्ट्रीय टीम को मदद मिलेगी।

खिलाड़ियों के साथ काम करने के लिए उत्सुक हूं

लांस क्लूजनर

कोच पद पर नियुक्त होने के बाद क्लूजनर ने कहा,

“मैं अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के हेड कोच के रूप में मिली जिम्मेदारी को संभालने और दुनिया के कई बेहतरीन प्रतिभाशाली खिलाड़ियों के साथ काम करने के लिए उत्सुक हूं। जिस तरह बेखौफ अंदाज में अफगानिस्तान क्रिकेट टीम क्रिकेट खेलती है उससे दुनिया वाकिफ है।

मुझे पूरा विश्वास है कि थोड़ी सी कड़ी मेहनत इस टीम को दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम में तब्दील कर सकती है। मैं अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के साथ काम करते हुए उनके क्रिकेट के स्तर को और ऊंचे स्तर पर ले जानी की कोशिश करूंगा।”

रह चुके हैं मुंबई इंडियंस के गेंदबाजी कोच 

1999 विश्व कप में लांस क्लूजनर को मैन ऑफ द सीरीज का खिताब दिया गया था। संन्यास लेने के बाद से उन्होंने अपना कोचिंग करियर शुरू कर दिया। वह इंडियन प्रीमियर लीग की मुंबई इंडियन्स के गेंदबाजी कोच के रूप में भी काम कर चुके हैं। साउथ अफ्रीका की राष्ट्रीय अकादमी में सलाहकार रहे हैं और टेस्ट टीम के बैटिंग कोच के रूप में भी क्लूजनर ने काम किया है। वो जिंबाब्वे क्रिकेट टीम के बैटिंग कोच के रूप में भी काम कर चुके हैं। वर्तमान में दक्षिण अफ्रीका की टी-20 टीम के बल्लेबाजी कोच की भूमिका अदा कर रहे हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *