Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

कोरोना वायरस जैसी वैश्विक महामारी से जूझने के दौरान मैदान पर वापस लौटते क्रिकेट को अगले कुछ दिन एक और संघर्ष से जूझना पड़ेगा. ये संघर्ष है क्रिकेट की सर्वोच्च प्रशासनिक गद्दी पर बैठने वाले का चयन करने का. यानी इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल का अगला चेयरमैन चुनने का. आईसीसी के नए चीफ के तौर पर भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली का नाम सबसे ज्यादा चर्चा में है.

पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली इस वक्त बीसीसीआई अध्यक्ष के पद पर आसीन हैं. पिछले करीब 10 महीने से गांगुली बीसीसीआई को लीड कर रहे हैं. इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल के चेयरमैन पद से शंशाक मनोहर ने दो हफ्ते पहले इस्तीफा दे दिया था. जिसके बाद अब कार्यवाहक चेयरमैन से मदद ली जा रही थी.  हालाँकि उसके साथ जल्द ही आईसीसी अब चेयरमैन पद के लिए चुनाव के बारें में सोच रही है.

गांगुली के अब तक के कार्यकाल को देखते हुए आवाज उठ रही है कि सौरव गांगुली को आईसीसी (ICC) अध्यक्ष बनाया जाए. ये मांग सिर्फ भारत की ओर से नहीं बल्कि उनके विरोधी भी कर रहे हैं. साउथ अफ्रीका के पूर्व कप्तान और क्रिकेट साउथ अफ्रीका के अध्यक्ष ग्रीम स्मिथ ने कहा है कि सौरव गांगुली में लीडरशिप क्वॉलिटी है. गांगुली आईसीसी प्रेजिडेंट के लिए सबसे बेहतर हैं.

3. बीसीसीआई को सौरव गांगुली जैसे लीडर की है शख्त जरूरत

यह तो सभी जानते हैं कि विश्व भर में जितने भी क्रिकेट बोर्ड हैं उनमें सबसे शक्तिशाली बोर्ड भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ही है. बीसीसीआई की ताकत की वजह उसके पास अपार धन है. बीसीसीआई क्रिकेट जगत की सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड भी है. इसलिए इसकी तूती आईसीसी पर भी बोलती है.

हालाँकि इस समय बीसीसीई थोड़ा कमजोर जरूर पड़ी है. जिसका सबसे प्रमुख कारण पूर्व भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष तथा हाल ही में आईसीसी के मुखिया का पद छोड़ने वाले शशांक मनोहर हैं. इस समय बीसीसीई को एक शानदार लीडर की आवश्यकता है, जो बीसीसीआई को द्रढ़ता से लीड कर सके.

ऐसे में बीसीसीआई जानती है कि जिस लीडर की आवश्यकता उसे है, वह निश्चित रूप से मौजूदा अध्यक्ष सौरव गांगुली ही हैं. ऐसे में आईसीसी से ज्यादा बीसीसीआई को उनकी आवश्यकता है. इसी कारण ऐसा भी हो सकता है कि गांगुली अपना नाम इस चुनाव में दाखिल ही नहीं करेंगे.

Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

Ashutosh Tripathi

मैं एक पत्रकार हूँ. पत्रकार ना तो आस्तिक होता है और ना तो नास्तिक होता है बल्कि...