इंग्लैंड में खेली गई एशेज सीरीज में स्टीव स्मिथ ने अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के दमपर विराट कोहली को पछाड़ नंबर-1 टेस्ट प्लेयर बन गए हैं। जिसके बाद से चारों तरफ स्मिथ-कोहली की तुलना हो रही है। कई दिग्गज खिलाड़ियों ने अपने विचार व्यक्त कर बताया है कि उनके हिसाब से कौन है नंबर-1। इसी क्रम में अब भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने विराट कोहली को ही सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज माना है।

दादा ने विराट कोहली को माना सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज

गांगुली ने टाटा स्टील कोलकाता 25 के मैराथन लांच कार्यक्रम में मीडिया द्वारा स्मिथ-विराट की तुलना के जवाब में कहा, ” ये वे सवाल हैं जिनका जवाब नहीं दिया जा सकता। विराट इस समय दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं। इसलिए हम इससे खुश हैं।”

स्टीव स्मिथ के बारे में पूछे जाने पर दादा ने कहा, “उनका रिकॉर्ड खुद बोलता है। 26 टेस्ट शतक लगाना एक अद्भुत रिकॉर्ड है।”

चयनकर्ता या कप्तान को लेना चाहिए फैसला

पिछले लंबे वक्त से महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास पर चर्चा जारी है। लेकिन धोनी अभी तक इस मामले पर चुप्पी साधे हुए हैं। धोनी के भविष्य को लेकर गांगुली ने कहा, “मुझे नहीं पता कि चयनकर्ता क्या सोचते हैं और विराट क्या सोचते हैं। धोनी बेहद महत्वपूर्ण व्यक्ति हैं और उन्हें अपने संन्यास का फैसला लेने दें।”

आपको बता दें, विश्व कप के बाद से धोनी क्रिकेट के मैदान से दूर हैं। हालांकि अभी तक उन्होंने अपने संन्यास के विषय पर कुछ भी नहीं कहा है। साथ ही कप्तान विराट कोहली व अधिकतर दिग्गजों का मानना है कि उनके संन्यास का फैसला उनपर ही छोड़ देना चाहिए।

स्टीव स्मिथ ने एशेज 2019 को किया अपने नाम

स्टीव स्मिथ ने टेस्ट में शानदार वापसी कर ली है। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली गई एशेज सीरीज में खेली गई 7 पारियों में 774 रन बनाकर सीरीज के टॉप स्कोरर रहे। स्मिथ ने इस पूरी सीरीज में अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी से ऑस्ट्रेलिया को सीरीज बरकरार रखने में काफी मदद की। जिसके लिए उन्हें मैन ऑफ द सीरीज के साथ-साथ लगातार दूसरी बार कॉम्पटन मिलर मेडल भी दिया गया।

स्मिथ ने एशेज के चार मैचों में 144, 142, 92, 211, 82, 80 और 23 रन बनाए। इसके साथ ही स्मिथ को लगातार दूसरी बार एशेज सीरीज में कॉमप्टन-मिलर मेडल दिया गया है। आपको बता दें, स्टार बल्लेबाज ने 2 एशेज सीरीज की 11 पारियों में सबसे कम 23 रनों पर अपना विकेट गंवाया है। वरना इस खिलाड़ी को शतकों के ढेर लगाने की आदत है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *