CALCUTTA, INDIA: Indian cricketer Yuvraj Singh (R) is watched by Pakistan's wicketkeeper Kamran Akmal as he plays a shot during the Platinum Jubilee One Day International (ODI) match between India and Pakistan at the Eden Gardens Stadium in Calcutta, 13 November 2004. India captain Sourav Ganguly elected to bat after winning the toss against Pakistan in the day-night match and India scored 292 runs for the loss of six wickets in their alotted 50 overs. AFP PHOTO/Deshakalyan CHOWDHURY (Photo credit should read DESHAKALYAN CHOWDHURY/AFP/Getty Images)

अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने क्रिकेट के खेल को और ज्यादा बेहतर व निष्पक्ष बनाने के लिए कुछ नये नियमों की घोषणा की है, जो 28 सितम्बर गुरुवार से पाकिस्तान और श्रीलंका व साउथ अफ्रीका बनाम बांग्लादेश के बीच शुरू हो रही टेस्ट सीरीज के पहले मैच से लागू हो जायेंगे.

अब आईसीसी के एक नये नियम के अनुसार अंपायर के पास भी किसी भी खिलाड़ी को फुटबॉल के तरह बाहर भेजने का अधिकार भी होगा. अगर कोई भी खिलाड़ी मैदान में कुछ गलत हरकत करता है, तो अंपायर उसे मैदान से बाहर भेज सकता है.

लेवल 4 के तहत बाहर किया जायेगा खिलाड़ी को 

आईसीसी ने मंगलवार को ही घोषणा की थी, कि यदि कोई खिलाड़ी को लेवल 4 के तहत मैदान में दोषी पाया जाता है तो खिलाड़ी को बाकी मैच से अंपायर मैदान से बाहर भेज सकता है. 

दादा भी इस नियम के समर्थन में 

दुर्गा पूजा मंडल का दौरा करते समय भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने अपने एक इंटरव्यू में आईसीसी के अंपायर द्वारा खिलाड़ी को बाहर भेजने के नये नियम का समर्थन करते हुए कहा, “मुझे लगता है कि आईसीसी ने अंपायर द्वारा खिलाड़ियों को बाहर भेजने का नया नियम बिलकुल सही बनाया है और मैं भी इसका समर्थन करता हूं.”

क्रिकेट में अनुशासन लाने के लिए शानदार पहल 

सौरव गांगुली ने अपने इंटरव्यू में आईसीसी के इस नये नियम को लेकर आगे कहा, यह विश्व क्रिकेट के लिए अच्छी सोच है, क्योंकि सच बताऊ तो भारत के बाहर खासकर इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के मैदान में हमने बहुत कुछ अपने विपक्षी खिलाड़ियों से सुना व झेला है और यहाँ तक की ऐसी चीजे कई बार कैमरे में भी नहीं आती है, इसलिए मुझे लगता है, कि क्रिकेट की भलाई व अनुशासन के लिए ये एक बहुत शानदार पहल है.”

दादा खुद भी थे आक्रामक

हालाँकि दादा का आईसीसी के इस नये नियम को समर्थन मिला तो है, लेकिन वैसे ये बात आप भी सभी अच्छे से जानते है, कि भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली खुद भी मैदान में काफी आक्रामक थे. शायद दादा आज अगर वर्तमान में खेल रहे होते, तो शायद इस नियम से खुश नहीं होते. जैसे वर्तमान में भारतीय कप्तान विराट कोहली इस नये नियम से खुश नहीं होंगे.

भारत के लिए बनाए 10,000 वनडे रन 

भारतीय टीम के पूर्व दिग्गज ओपनर बल्लेबाज सौरव गांगुली ने अपने देश के लिए 113 टेस्ट व 311 वनडे मैच खेले. जिसमे गांगुली ने वनडे में 40.73 की शानदार औसत से 11363 रन बनाए है. वह गांगुली ने टेस्ट में 42.18 की औसत से 7212 रन बनाए है.