Team India

ICC T20 World cup 2021 की सबसे प्रबल दावेदार मानी जा रही भारतीय टीम ग्रुप स्टेज से ही बाहर हो गयी. जिसके बाद गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) और कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने बायो बबल (Bio-Bubble) पर सवाल उठाए थे. भारतीय टीम को अपने पहले ही दोनों मुकाबलों में पाकिस्तान, और न्यूजीलैंड के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था. भारतीय खिलाडी पिछले 4-5 महीनो से लगातार बायो-बबल का हिस्सा थे. जसका असर खिलाड़ियों के प्रदर्शन में भी देखने को मिला. अब आईसीसी (ICC) खिलाड़ियों को सहूलियत देने के लिए इस क्षेत्र में एक बड़ा कदम उठाने जा रहा है.

Bio-Bubble के नियमों में होंगे बदलाव

Bio-Bubble

इंडियन एक्सप्रेस की खबर अनुसार, आईसीसी (ICC) अब इंग्लिश प्रीमियर लीग (EPL) का फॉर्मूला अपना सकता है. यानी खिलाड़ियाें को अब बायो बबल (Bio-Bubble) में नहीं रहना होगा. अब उनका लगातार टेस्ट किया जाएगा. ईपीएल में संपर्क में आने वाले लोगों को भी आइसोलेशन में नहीं भेजा जाता है. सिर्फ पॉजिटिव आने वाले को ही क्वारंटाइन में रखा जाता है.

शुक्रवार को हुई आईसीसी (ICC) की चीफ एग्जीक्यूटिव कमेटी की बैठक में बायो-बबल के नियमों को लेकर चर्चा हुई. इसमें सदस्यों ने माना कि बायो बबल लंबे समय तक नहीं चलने वाला. इससे खिलाड़ियाें के मानसिक स्वास्थ्य पर असर पड़ा है. बुमराह के अलावा कई भारतीय खिलाड़ी इंग्लैंड सीरीज के बाद सीधे आईपीएल के बायो बबल (Bio-Bubble) में आए. इसके बाद वे टी20 वर्ल्ड कप खेलने के लिए उतर गए. यानी वे लगातार बायो बबल में रह रहे थे. इससे पहले भी कई खिलाड़ी बायो-बबल में रहने से, मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ने वाले असर को लेकर अपनी बात रख चुके है.

बुमराह के बाद रवि शास्त्री ने जाहिर की थी अपनी नाराजगी

Bio-Bubble

बुमराह (Jasprit Bumrah) के बाद टीम के पूर्व कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने भी भारतीय खिलाड़ियों की लगातार का बायो-बबल (Bio-Bubble) में रहने से हो रही परेशानियों के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर की थी.

शास्त्री ने कहा था कि तीनों फाॅर्मेट में खेलने वाले कई खिलाड़ी पिछले 24 महीने में सिर्फ 25 दिन घर में रह सके हैं. मुझे नहीं पता आप कौन हैं, लेकिन अगर यहां ब्रेडमैन भी होते तो उनका औसत भी नीचे आ जाता. क्योंकि आखिर आप इंसान ही हैं. उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा था कि आज नहीं तो कल बायाे बबल फटेगा. इस कारण हमें और आईसीसी को सावधान रहने की जरूरत है.

आईसीसी (ICC) की ओर से हालांकि नए नियम को बनाने के लिए अभी कोई समय-सीमा तय नहीं की गई है. टीम इंडिया को 17 नवंबर से न्यूजीलैंड के खिलाफ घरेलु सीरीज में हिस्सा लेना है . सीरीज में 3 टी20 और 2 टेस्ट होने हैं. इसके बाद टीम को साउथ अफ्रीका के लंबे दाैरे पर जाना है. वहां तीन टेस्ट, तीन वनडे और 4 टी20 के मुकाबले खेले जाएंगे.