kuogfqc8 smriti mandhana

क्वीस्लैंड में भारत और ऑस्ट्रेलिया की महिला क्रिकेट टीम के बीच चल रहे एक मात्र डे-नाईट टेस्ट मैच में भारत के तरफ से स्टार ओपनर बल्लेबाज स्मृति मंधाना ने शानदार शतक लगाया है. टेस्ट क्रिकेट में यह उनका पहला शतक है. इसके साथ ही मंधना डे-नाईट टेस्ट मैच में शतक लगाने वाली भारत की पहली महिला क्रिकेट बन गयी है और वह ओवरऑल दूसरी क्रिकेटर हैं. उनसे पहले विराट कोहली ने 2 साल पहले बांग्लादेश के खिलाफ कोलकाता में हुए डे-नाइट टेस्ट में यह कारनामा किया था.

स्मृति मंधाना ने जमाया शानदार शतक

mandhana test 1633064075064 1633064085616

ऑस्ट्रलिया के साथ खेली जा रही एकमात्र टेस्ट की सीरीज के पहले दिन भारतीय महिला टीम टॉस हार कर पहले बल्लेबाजी करने के लिए उतरी.  टीम के ओपनर बल्लेबाज शेफाली वर्मा और स्मृति मंधाना ने मिलकर टीम को धाकड़ शुरुवात दिलाई. दोनों ने मिलकर पहले विकेट के लिए शानदार 93 रन जोड़े. शेफाली 31 रन बनाकर आउट हो गयी.

लेकिन मंधाना दूसरे छोर पर टिकी रही और खेल के दूसरे दिन उन्होंने अपने टेस्ट करियर का पहला शतक जमाया. मंधाना 127 रन बनाकर आउट हो गईं. अपनी इस पारी में भारतीय ओपनर ने 22 चौके और 1 छक्का लगाया. यह किसी भी महिला बल्लेबाज का ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट का बेस्ट स्कोर है. उनसे पहले इंग्लैंड की मॉली हाइड ने ऑस्ट्रेलिया में 124 रन की नाबाद पारी खेली थी.

वासिम जाफर ने मंधाना को बताया ऑफ साइड की देवी

स्मृति मंधाना को उनके शानदार शतकीय पारी के बाद क्रिकेट जगत के कई सारे दिग्गजों ने इसके लिए उन्हें बधाई दी. जिसमे सचिन तेंदुलकर और वसीम जाफ़र जैसे बड़े नाम शामिल है. पूर्व भारतीय ओपनर वसीम जाफर ने भी उनकी जमकर तारीफ की. उन्होंने मंधाना को ‘ऑफ साइड की देवी’ करार दिया. जैसे पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली को ऑफ साइड का गॉड कहा जाता था. जाफर के अलावा, बीसीसीआई और आईसीसी ने भी मंधाना को इस उपलब्धि के लिए बधाई दी.

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शतक लगाने वाली दूसरी भारतीय महिला क्रिकेटर बनी मंधाना

Untitled design 10

मंधाना ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट में शतक लगाने वाली दूसरी भारतीय महिला क्रिकेटर हैं. उनसे पहले 1984 में संध्या अग्रवाल ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 134 रन की पारी खेली थी. यह टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ किसी भारतीय महिला का पहला शतक था. 1991 में रजनी वेणुगोपाल का 58 रन ऑस्ट्रेलिया में भारत के लिए पिछला सर्वोच्च टेस्ट स्कोर था. टेस्ट मैच के पहले दिन मंधाना ने विस्फोटक बल्लेबाजी करते हुए सिर्फ 51 गेंदों में 11 चौकों की मदद से पचासा जड़ा था. यह महिला टेस्ट क्रिकेट में दूसरा सबसे तेज अर्धशतक था. टेस्ट में सबसे तेज फिफ्टी का रिकॉर्ड भारत की संगीता डाबिर के नाम है. उन्होंने 1995 में इंग्लैंड के खिलाफ 42 गेंद में 50 रन बनाए थे