विश्व कप 2019 का आगाज इंग्लैंड और्र्र वेल्स मे खेला जा रहा था, अभी तक टूर्नामेंट के लीग मैच खत्म होने के कगार पर है. टीम इंडिया आज बांग्लादेश के खिलाफ खेलने उतरी है. टीम इंडिया मे इस टूर्नामेंट मे काफी उतार चढ़ाव का सामना करना पड़ा है. इन सबकी वजह से रविन्द्र जडेजा की बहन नैना ने अपनी नाराज़गी जाहिर की है.

रविन्द्र जडेजा की फील्डिंग है शानदार

रविन्द्र जडेजा

रविन्द्र जडेजा 2011 विश्व कप मे भारतीय टीम के हिस्सा थे, विश्व कप की शुरुआत मे ही फील्डिंग कोच आर.श्रीधर ने बताया था कि भारतीय टीम मे अभी एक ही ऐसा खिलाड़ी है जिसका डायरेक्ट हिट सफल होता है. इस बार भी कई मैचों मे जडेजा ने यह साबित भी किया है. न्यूजीलैंड के खिलाफ उन्होंने वार्म अप मैच मे मौका दिया गया था पर उन्होंने 50 से अधिक रन बनाए थे.

रविवार को इंग्लैंड के खिलाफ मुकाबले मे कुलदीप यादव ने जैसन रॉय को गेंदबाजी की और उस गेंद को रविन्द्र जडेजा ने जिस तरह बाउंड्री के पास पकड़ा वो काबिले तारीफ था. किसी को उम्मीद नहीं थी की कोई खिलाड़ी वो कैच पकड़ पायेगा, पर जडेजा ने उसको पकड़ कर एक बार फिर खुद को साबित किया.

रविन्द्र जडेजा की बहन ने इस बात पर जताया गुस्सा

नैना जडेजा

इस विश्व कप मे भारत ने 7 मुकाबले खेले हैं और वार्म अप मैच के अलावा किसी भी मुख्य खेल मे अनुभव होने के बावजूद रविन्द्र जडेजा को प्लेइंग इलेवन मे मौका नहीं दिया गया. बल्कि जानते हैं, कि रवींद्र आईसीसी रैंकिंग में नंबर 1 ऑलराउंडर थे और आईसीसी रैंकिंग में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज भी रह चुके हैं.

इस विश्व कप मे किसी ने न तो उनको गेंदबाजी करते देखा और न ही बल्लेबाजी. हालाँकि मैदान में किसी खिलाड़ी के चोटिल होने के कारण उसकी जगह जडेजा को फील्डिंग करते जरूर देखा जाता है.

नैना जडेजा ने कहा कि

“जब दूसरे खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रहे हैं, तो रवींद्र जडेजा को क्यों नजरअंदाज किया जा रहा है?”

नैना ने कहा है कि

“अब कोहली एंड टीम को रवींद्र जडेजा को बाकी बचे मैचों में खेलने का मौका देना चाहिए.”

इन कारणों से अभी नहीं खिलाया गया होगा जडेजा को

सभी को पता है कि रविन्द्र जडेजा भारतीय टीम के अनुभवी खिलाड़ी हैं. भारतीय टीम को अभी बड़े मैच भी खेलने हैं, जिसके लिए हो सकता है कि वो जडेजा को अपना तुरुप का पत्ता बनाकर उतारें. फिलहाल आज बांग्लादेश के खिलाफ भारतीय टीम ने केदार जाधव को बाहर बिठाकर दिनेश कार्तिक को मौका दिया है.