शुभमन गिल-जोफ्रा

भारत-इंग्लैंड के बीच जारी तीसरे टेस्ट में एक बार फिर शुभमन गिल पहली पारी नें अपने बल्ले से दमखम दिखाने में नाकामयाब रहे. जिसे लेकर सुनील गावस्कर ने बड़ा बयान दिया है. हालांकि टीम इंडिया की पूरी पारी खेल के दूसरे दिन महज 145 रन पर ऑलआउट हो गई. खेल का दूसरा दिन भारतीय टीम के लिए बेहद निराशाजनक रहा.

सुनील गावस्कर ने शुभमन गिल की बल्लेबाजी को लेकर दिया बयान

शुभमन गिल

तीसरे टेस्ट मैच के दूसरी दिन इंग्लिश टीम के कप्तान ने गेंदबाजी करते हुए कुल 5 विकेट चटकाए, जो किसी भी टीम के कैप्टन के लिए बड़ी सफलता है. हालांकि पहले दिन बल्लेबाजी करते हुए नरेंद्र मोदी स्टेडियम में इंग्लैंड को भारतीय गेंदबाजों ने महज 112 रन पर पवेलियन भेज दिया था. इसके बाद पहले खेल खत्म होने तक भारत ने 3 विकेट के नुकसान पर 99 रन बनाए थे.

हालांकि पहले दिन रोहित शर्मा के साथ ओपनिंग करने उतरे शुभमन गिल बुरी तरह से फ्लॉप साबित हुए, महज 11 रन बनाकर वो जोफ्रा आर्चर की गेंद पर अपना विकेट दे बैठे. क्रीज पर बल्लेबाजी करते हुए जैसे ही गिल का ध्यान भटका, वैसे ही जोफ्रा आर्चर के खिलाफ पुल शॉट खेलकर वो अपना विकेट दे बैठे. जिसे लेकर सुनील गावस्कर ने अपनी प्रतिक्रिया दी है.

खराब शॉट्स खेलकर आउट हुए शुभमन गिल- सुनील गावस्कर

शुभमन गिल-सुनील गावस्कर

दरअसल गिल के आउट होने के बाद गावस्कर ने इस बारे में स्टार स्पोर्ट्स के कार्यक्रम ‘क्रिकेट लाइव’ में बात करते हुए कहा कि,

”उन्होंने कई शानदार शॉट्स लगाए, लेकिन इसके बाद वो अपना विकेट गंवा बैठे. खराब शॉट्स के सलेक्शन, और इससे उनके आत्मविश्वास को भी जरूर ठेस पहुंचेगी. क्योंकि कई बार जब आप पूरी मेहनत कर चुके होते हैं, तो आपको लगातार उसे जारी रखना होता है.”

आगे बातचीत करते हुए सुनील गावस्कर ने शुभमन गिल के शॉट्स के बारे में बात करते हुए कहा कि, यह एक ऐसा शॉट था, जिसे जोफ्रा आर्चर की गेंद पर खेलते हुए वो खुद को बचा सकते थे, क्योंकि वो गेंद को स्किड करा सकते हैं और इसी वजह से फर्क पड़ा.

दूसरे मैच में भी इंग्लैंड के खिलाफ जल्द आउट हुए थे शुभमन गिल

शुभमन गिल

हालांकि दूसरे मुकाबले में भी शुभमन गिल के बल्ले से कुछ खास रन नहीं निकले थे. पहली पारी में गिल जहां  शून्य पर आउट होकर पवेलियन लौट गए थे, तो वहीं दूसरी पारी में महज 14 रन बनाकर अपना विकेट दे बैठे थे. हालांकि इशारों में गावस्कर ने गिल को यह संकेत देने की जरूर कोशिश की है कि, उन्हें अपनी फॉर्म में वाप, सौटना होगा.

क्योंकि ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर गिल के बल्ले से अच्छे खासे रनों की बरसात हुई थी. हालांकि शतक लगाने से भले ही गिल चूक गए थे, लेकिन उन्होंने लंबी पारी खेलने के साथ ही, टीम के लिए एक अच्छे ओपनर साबित हुए थे.