Shubman Gill

इंडियन क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल (Shubman Gill) ने गाबा के मैदान में टीम इंडिया की ऐतिहासिक जीत के पलों को याद किया है। इस टेस्ट सीरीज में अपने टेस्ट करियर की शुरुआत करने वाले 22 वर्षीय खिलाड़ी गिल ने ऑस्ट्रेलिया के घातक तेज गेंदबाजी अटैक के सामने बल्लेबाजी करने का अनुभव साझा किया है। गाबा टेस्ट मैच में पांचवे दिन टीम इंडिया को 328 रनों का पहाड़ जैसा लक्ष्य हासिल करना था।

Shubman Gill ने खेली थी 91 रनों की पारी

Shubhman Gill

इस मैच में शुभमन गिल (Shubman Gill) ने भारत को अच्छी शुरुआत देते हुए 91 रनों की बेहतरीन पारी खेली थी। ऑस्ट्रेलिया टीम के दिग्गज तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क (Mitchell Stark) गाबा के मैदान पर अपनी गेंदों से आग उगल रहे थे। स्टार्क लगातार गिल को शॉर्ट गेंदों से अटैक कर रहे थे। लेकिन युवा खिलाड़ी शुभमन गिल (Shubman Gill) क्रीज पर टीक कर स्टार्क की गेंदों का बखूबी जवाब दे रहे थे।

Mitchell Stark की गेंदों का दिया बखूबी जवाब

Stark

टीम इंडिया को गाबा का किला फतेह कीये हुए एक साल से भी ज्यादा का समय हो गया है। लेकिन इस ऐतिहासिक जीत के चित्र आज भी सभी क्रिकेट प्रेमियों के जहन में ताजा है। हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान मिचेल स्टार्क के साथ अपनी जुगलबंदी को लेकर शुभमन गिल (Shubman Gill) का कहना है कि

“स्टार्क और कमिंस हम पर शॉर्ट गेंदबाजी कर रहे थे और मेरा विचार स्टार्क पर आक्रमण करने का था। अगर आप पीछे जाकर उस पारी को दोबारा देखें तो आप देखेंगे कि मैंने एक बार भी कमिंस को पुल नहीं किया। पुल शॉट स्टार्क की गेंद पर थे, उस तरफ से छोटी चौकोर सीमा को ध्यान में रखते हुए। मुझे लगा कि अगर मेरे बल्ले का टॉप एज लगता है, तो इससे गेंद फील्डर के ऊपर से गुजर जाएगी और मुझे बाउंड्री मिल जाएगी क्योंकि वह अच्छी गति से गेंदबाजी कर रहा था।”

इसके आगे गिल ने कहा कि

“जिस छोर से कमिंस गेंदबाजी कर रहे थे, उसकी सीमा काफी बड़ी थी, इसलिए मैंने खुद से कहा कि केवल स्टार्क के खिलाफ पुल शॉट का प्रयास करें और कमिंस की छोटी गेंदों को अकेला छोड़ दें। स्टार्क द्वारा भेजे गए हर बाउंसर को हिट करने का विचार था और इसका मुझे उस दिन बेहद फायदा पहुंचाया।”

ऑस्ट्रेलिया में डैब्यू करने पर बोले Shubman Gill

Shubman Gill 2

शुभमन गिल (Shubman Gill) मौजूदा समय में भारतीय क्रिकेट के सबसे प्रतिभावान खिलाड़ियों में से एक हैं। गिल ने अपने टेस्ट करियर में अबतक 10 टेस्ट मैचों में 32 की औसत के साथ 558 रन बनाए हैं। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर अपने करियर की शुरुआत करने पर गिल ने कहा कि

“ऑस्ट्रेलिया में डैब्यू कर रहे एक युवा खिलाड़ी के रूप में, आपके मन में सबसे बड़ा संदेह यह है कि क्या आप गेंदबाजी की गति को संभालने में सक्षम होंगे या नहीं। पैट कमिंस और स्टार्क अपनी गति के लिए जाने जाते हैं और जोश हेजलवुड अपनी लाइन और लेंथ के लिए जाने जाते हैं। लेकिन जब मैं उस संदेह पर विजय पाने में सक्षम हो गया और मैंने उस गति को संभालने में सहज महसूस किया, ये मेरी सबसे बड़ी मानसिक जीत थी”