Shreyas Iyer-MOM

राजस्थान रॉयल्स और दिल्ली कैपिटल्स (RR vs DC) के बीच खेला गया गया 36वां मुकाबला बेहद रोमांचक रहा. इस मैच के हीरो श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) रहे. उन्होंने दिल्ली कैपिटल्स के लिए उस दौरान 43 रन का शानदार पारी खेला जब टीम को रन और पार्टनशिप दोनों की जरूरत थी. टॉस जीतकर संजू सैमसन (Sanju Samson) ने गेंदबाजी का फैसला करते हुए ऋषभ पंत (Rishabh Pant) को गेंदबाजी का न्योता दिया था. पहले खेलने उतरी दिल्ली कैपिटल्स ने 6 विकेट के नुकसान पर 154 रन का स्कोर खड़ा किया था. जिसका पीछा करने उतरी राजस्थान 33 रन से हार गई.

सलामी जोड़ी टूटने के बाद इस खिलाड़ी ने टीम को दिलाई अच्छी शुरूआत

Shreyas Iyer

इस मुकाबले में दोनों ही टीमों की शुरूआत अच्छी नहीं रही. लेकिन, दिल्ली कैपिटल्स (Delhi capitals) वापसी करने में कामयाब रही. जबकि राजस्थान रॉयल्स निरंतर अंतराल पर विकेट गंवाती रही. जिसके कारण ये मुकाबला संजू सैमसन के हाथ से निकल गया. हालांकि उन्होंने नाबाद 70 रन की पारी खेली. लेकिन, टीम तास के पत्ते की तरह बिखर गई.

तो वहीं दिल्ली कैपिटल्स ने भले ही शिखर धवन और पृथ्वी शॉ का विकेट जल्दी गंवा दिया था. लेकिन, यहां से कप्तान ऋषभ पंत और श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) ने अच्छी साझेदारी की और टीम को 154 रन के स्कोर तक पहुंचाने में अहम योगदान दिया. इसके बाद गेंदबाजी में टीम का जलवा बरकरार रहा. एक समय ऐसा लग रहा था कि, दिल्ली आज का मुकाबला गंवा देगी. लेकिन, गेंदबाजों ने इस फैसले को गलत साबित कर दिया.

MOM मैच बनने के बाद अय्यर ने की इन बल्लेबाजों की तारीफ

photo 2021 09 25 20 09 35

इस मैच में मिली जीत के बाद श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) को मैन ऑफ द मैच के खिताब से नवाजा गया. क्योंकि उन्होंने उस वक्त 43 रन की पारी खेली टीम को वाकई उनकी जरूर थी. इस सम्मान से नवाजे जाने के बाद अपने प्रदर्शन के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि,

“मैंने विकेट किस तरह से खेल रही थी उसको देखा और खेल को आगे बढ़ाया. उसके बाद मैंने स्पिनरों के खिलाफ बड़े शॉट्स लगाए. पृथ्वी और शिखर आक्रामक शैली के बल्लेबाज हैं. मैं और ऋषभ 5 सालों से साथ खेल रहे हैं.

मुझे मजा आता है जब वह क्रीज पर आते ही गेंदबाजों के पीछे पड़ जाता है. चोटिल होने के बाद पिछले 5 महीने कठिन थे. लेकिन, अब मैं अच्छा महसूस कर रहा हूं. मेरे परिवार और मेरे मित्रों ने वापसी की राह पर मेरा साथ दिया और मेरा हौसला बढ़ाया. मुझे गेंदबाजों पर हावी होना पसंद हैं”.