Shreyas Iyer Latest Statement

Shreyas Iyer: कोलकाता नाइट राइडर्स आईपीएल 2022 से बाहर होने वाली तीसरी टीम है। 18 मई को लखनऊ सुपर जायंट्स के खिलाफ खेले गए आईपीएल 2022 के 66वें मुकाबले में कोलकाता ने लखनऊ के हाथों 2 रनों से हार का सामना करना पड़ा। इस हार के साथ ही कोलकाता का प्लेऑफ में जाने का सपना भी चखना-चूर हो गया। आइए इस आर्टिकल के जरिए जानते हैं कि टूर्नामेंट से बाहर होने के बाद टीम के कप्तान श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) का क्या कहना है….

क्यों नहीं हुआ Shreyas Iyer को टूर्नामेंट से बाहर होने के बाद भी दुख?

Shreyas Iyer post match interview vs SRH

कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) आईपीएल 2022 से बाहर होने के बाद भी दुखी नहीं है। इसकी वजह ये है कि वह अपने इस मैच को पूरे सीजन का बेस्ट मैच मानते हैं। वहीं उन्होंने टीम के बल्लेबाजी रिंकू सिंह की पारी की भी तारीफ की। श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) ने मैच खत्म होने के बाद मैच प्रेज़न्टैशन में रिंकू के लिए बात करते हुए कहा,

“मुझे बिल्कुल भी दुख नहीं हो रहा है। यह मेरे द्वारा खेले गए क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ खेलों में से एक था। जिस तरह से हमें अपना चरित्र और रवैया रखना चाहिए वह बस शानदार था। जिस तरह से रिंकू ने हमें अंत तक पहुंचाया, मैं उससे प्यार करता हूं, लेकिन दुर्भाग्य से वह समय नहीं निकाल सका जब दो गेंदें शेष थीं, वह वास्तव में दुखी था।”

“मैं उम्मीद कर रहा था कि वह हमारे लिए खेल खत्म कर सकता है और हीरो बन सकता है, लेकिन फिर भी उसने शानदार पारी खेली और मैं उसके लिए वास्तव में खुश हूं। जब हम अंदर आए, तो मैंने कभी नहीं सोचा था कि यह इस तरह से खेलेगा क्योंकि पिच सुखी थी और घास उतनी गीली नहीं थी। मैंने सोचा था कि स्पिनरों के लिए थोड़ी मदद होगी लेकिन एक बार वे जाने लगे.. एलएसजी ने गेंदबाजों को संभाला और एक बराबर स्कोर किया।

टीम के प्रदर्शन से खुश हैं Shreyas Iyer

shreyas iyer

कोलकाता नाइट राइडर्स ने आईपीएल 2022 की शुरुआत चेन्नई सुपर किंग्स को मात देकर की थी। श्रेयस अय्यर की कोलकाता नाइट राइडर्स ने इस सीजन के 14 मुकाबले खेली, जिसमें टीम ने छह जीते और आठ हरे। ऐसे प्रदर्शन के बाद भी टीम के कप्तान श्रेयस अय्यर अपनी परफ़ोर्मेंस से खुश हैं। अय्यर (Shreyas Iyer) ने आगे बात करते हुए कहा,

“यह हमारे लिए करो या मरो की स्थिति थी, पावरप्ले में दो विकेट गंवाने के बाद भी हमारी मानसिकता यह थी कि हम लक्ष्य का पीछा करें और इसे जितना हो सके पास ले जाएं और उन पर दबाव बनाएं। यह हमारे लिए उतार-चढ़ाव भरा मंजर था, हमने शानदार शुरुआत की लेकिन लगातार पांच गेम हारे और मुझे व्यक्तिगत रूप से लगता है कि हमने बहुत कुछ किया और बदलाव किया, हमें ऐसा करना फॉर्म के कारण पड़ा, लेकिन हमें रिंकू जैसे खिलाड़ी भी मिले “

“ड्रेसिंग रूम में वाइब हमेशा सकारात्मक रहा है और हमने कभी भी पैनिक नहीं किया। मैंने मैकुलम के साथ वास्तव में अच्छे संबंध बनाए हैं और वह ऐसा व्यक्ति है जो शांत और शांत है, भले ही स्थिति बिगड़ रही हो, आप खेल के किसी भी बिंदु पर उससे बात कर सकते हैं। उसे वह आभा मिलती है जब वह खिलाड़ियों के चारों ओर घूमता है और कभी भी खिलाड़ियों का न्याय नहीं करता है, हम सभी उसके लिए समान हैं”