VmiCrZR2

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर भारतीय तेज गेंदबाजों को कोचिंग देने के लिए तैयार हैं. अख्तर ने कहा कि वह मौजूदा तेज गेंदबाजों के साथ अपने अनुभव को साझा करना चाहते हैं, ताकि वह अपनी गेंदबाजी की कला में और अधिक सुधर कर सके. रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से मशहूर शोएब अख्तर का ऐसा मानना है कि वह अपने ज्ञान के चलते और आक्रामक तेज गेंदबाज टीम में ला सकते है.

शोएब अख्तर को उनकी रफ़्तार के लिए जाना जाता था और अपनी तेज गेंदबाजी के चलते वह हमेश विपक्षी टीम के बल्लेबाजों में सनसनी फैलाये रखते थे. अख्तर का गेंदबाजी एक्शन भी बेहद खूबसूरत था और वह हमेशा तेज से तेज गेंद डालना चाहते थे. दाएं हाथ के तेज गेंदबाज ने कभी भी अपनी गति के साथ समझौता नहीं किया और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे तेज़ डिलीवरी (161.3 किमी प्रति घंटा) की गेंदबाज़ी डाल विश्व रिकॉर्ड बनाया.

टीम इंडिया की कर सकते है मदद

imgishant sharma mohammed shami india australia test series
image by : bcci.tv

इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि शोएब अख्तर ज्ञान के धनि है और उनका यही अनुभव और ज्ञान टीम इंडिया के बहुत काम आएगा. अख्तर ने अपने पूरे करियर में बहुत नाम कमाया और वह वास्तव में भारतीय तेज गेंदबाजों को सही राह पर लाने में मदद कर सकते हैं.

हाल में ही हेलो एप से एक खास बातचीत के दौरान जब शोएब अख्तर से पूछा गया कि क्या वह भारत के गेंदबाजी कोच की भूमिका निभाने के लिए तैयार हैं, तो इस पर उन्होंने अपने बयान में कहा,

“मैं निश्चित रूप से करूंगा. मेरा काम ज्ञान फैलाना है. जो मैंने सीखा है वह ज्ञान है और मैं इसे फैलाऊंगा. मैं ऐसे गेंदबाज ला सकता हूँ जो ना सिर्फ आक्रामक होगे बल्कि अपनी गेंदों से लगातार बल्लेबाजों से सवाल पूछेंगे और बल्लेबाजों को भी बहुत मजा आएगा.”

भारतीय गेंदबाजों ने किया शानदार प्रदर्शन

INDIAFASTBOWLERSRB

मौजूदा समय में टीम इंडिया के तेज गेंदबाजों ने बेहद ही शानदार खेल दिखाया है. टीम के लिए जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी और इशांत शर्मा ने लगातार बेहतरीन प्रदर्शन किया है और टीम की सफलता में एक महत्वपूर्व योगदान भी दिया है.

भारतीय गेंदबाजी कोच भरत अरुण ने भी उनके साथ शानदार काम किया है और उन्हें नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद की है.

अख्तर के लिए नहीं आसान काम

image by : pak passion

वैसे आप सभी को बता दे, कि बतौर गेंदबाजी कोच अख्तर की नियुक्ति इतनी भी आसान नहीं है. अख्तर को क्रिकेट सलाहकार समिति कोच नियुक्त कर सकती है. वैसे यह बात भी किसी से छिपी नहीं है, कि भारत और पाकिस्तान के हालियाँ रिश्तें भी बहुत ही खराब है. सियासी जंग के चलते अख्तर का भारतीय कोच बनाना बहुत ज्यादा आसान नहीं है.

शोएब अख्तर ने पाकिस्तान के लिए 46 टेस्ट मैचों में 25.7 की औसत से 178 विकेट झटके थे और 163 वनडे मैचों में 24.98 की औसत से 247 विकेट झटके.

AKHIL GUPTA

क्रिकेट...क्रिकेट...क्रिकेट...इस नाम के अलावा मुझे और कुछ पता नहीं हैं. बस क्रिकेट...