dhawan

भारत और श्रीलंका के बीच तीन टी20 मैचों की सीरीज का तीसरा मैच आज कोलंबो में खेला जा रहा है। जिसमें भारतीय टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का निर्णय लिया है। वैसे अभी तक तो मैच में लंका की टीम का पलड़ा भारी लग रहा है। क्योंकि नए नवेले खिलाड़ियों के साथ मैदान पर उतरने के बाद भी टीम इंडिया को ज्यादा फायदा नहीं हुआ है।

 सीरीज पहले से ही 1-1 की बराबरी पर पहुंच चुकी है। ऐसे में यह मैच जीतना भारत के लिए बहुत ही जरुरी है। यही नहीं आज के मैच में कप्तान शिखर धवन (Shikhar Dhawan) के प्रदर्शन को देखते हुए ऐसा लग रहा है कि अब टी20 विश्वकप में खेलने का उनका सपना टूट गया है।

जीरो पर पवेलियन लौटे Shikhar Dhawan

shikhar dhawan

शिखर धवन (Shikhar Dhawan) की कप्तानी में भारत ने एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला जीती थी और वो टी20 मैचों की श्रृंखला भी जीतना ही चाहते होंगे। टीम का मुख्य कार्यभार सम्भालने का दायित्व कप्तान के कंधों पर होता है। लेकिन, वही फेल हो जाए तो क्या किया जाए। जी हां कुछ ऐसा ही हुआ है भारतीय कप्तान Shikhar Dhawan के साथ। तीसरे और निर्णायक मैच में धवन का बल्ला पूरी तरह से खामोश हो गया।

 उन्होंने सिर्फ एक ही गेंद खेली और जीरो पर पवेलियन लौट गए। वनडे सीरीज के पहले मैच को छोड़ दिया जाए  ( जिसमें शिखर ने 86 रन बनाए थे ) तो वो बड़ा स्कोर बनाने से चूक ही गए हैं। दूसरे वनडे मैच में 29 रन, तीसरे मैच में सिर्फ 13 रन ही उनके बल्ले से निकले थे। इसके बाद अगर टी20 की बात करें तो उनके प्रदर्शन से टीम को एक भी मैच जीतने में सफलता हासिल नहीं हुई है और आज के तीसरे टी20 मैच में भी वो जीरो पर ही आउट हो गए।

भारत ने दिया 82 रनों का लक्ष्य

Shikhar Dhawan-T20

भारतीय कप्तान Shikhar Dhawan ने जब आज के मैच का टॉस जीता तब उनके मन में बड़ा स्कोर  बनाने का सपना रहा होगा। लेकिन, जब वो बल्लेबाजी के लिए मैदान पर उतरे तब हालात बदल गए। टीम ने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए। टीम ने आज उम्मीद के मुताबिक खेल का प्रदर्शन नहीं किया। खुद कप्तान शिखर धवन भी कुछ कमाल दिखाए बिना ही 0 पर आउट हो गए।

 सलामी बल्लेबाज ऋतुराज गायकवाड़ ने 14 रनों की पारी खेली। श्रीलंकन गेंदबाज वनिंदु हसरंगा ने चार बल्लेबाजों को पवेलियन भेजकर भारतीय पारी को ढहा दिया। आलम यह रहा कि सिर्फ तीन खिलाड़ी गायकवाड़ (14), भुवनेश्वर कुमार (16) और कुलदीप यादव (नाबाद 23) ही दहाई का आंकड़ा पार कर सके। इन तीन के दम पर भारत ने 8 विकेट के नुकसान पर 81 रन बनाए। अब श्रीलंका को जीत के लिए 82 रन बनाने हैं।