महेंद्र सिंह धोनी पिछले काफी वक्त से क्रिकेट मैदान से दूर हैं लेकिन शायद ही ऐसा कोई दिन गया हो जब वह खबरों में न रहे। धोनी का टीम से लगातार अनुपलब्ध रहने के पीछे लगातार अलग-अलग कारण बताए जा रहे हैं साथ ही उनके संन्यास को लेकर भी चर्चा जारी है। अब इसी क्रम में इंडिया TV के प्रोग्राम आपकी अदालत में पहुंचे शिखर धवन ने भी धोनी के संन्यास के फैसले को उनपर ही छोड़ने की बात कही।

धोनी को करने देना चाहिए संन्यास का फैसला

धोनी
क्रेडिट- गिटी

महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास के मुद्दे पर दिग्गजों की राय 2 हिस्सों में बंट गई है। कुछ का मानना है कि अब धोनी के भविष्य पर कप्तान विराट कोहली और टीम मैनेजमेंट को फैसला करना चाहिए। लेकिन अधिकतर का मानना है कि धोनी के संन्यास का फैसला उनपर ही छोड़ देना चाहिए। इस बहस में शामिल होते हुए इंडिया टीवी के प्रोग्राम आपकी अदालत में पहुंचे शिखर धवन ने कहा,

‘‘धोनी इतने लंबे समय से खेल रहे है, मुझे लगता है कि वो जानते हैं कि उसे कब संन्यास लेना चाहिए। ये उनका फैसला होना चाहिए। उसने अपने कैरियर में भारत के लिए काफी अहम फैसले लिए हैं और मुझे पूरा भरोसा है कि जब समय आयेगा वो फैसला करेगा। ’’

धोनी भाई में हैं कप्तानी की क्वालिटीज

धोनी

शिखर धवन ने एमएस की कप्तानी की गुण गिनाते हुए कहा,

“यह एक बड़े कप्तान की क्वालिटी है। वो हर खिलाड़ी की प्रतिभा को समझता है और जानता है कि कहां तक एक खिलाड़ी का समर्थन किया जाना चाहिए। वो जानता है कि एक खिलाड़ी को चैम्पियन कैसे बनाया जाए। उनकी कप्तानी में भारत की सफलता इसका सबूत है। उनका (धोनी) नियंत्रण ही उनकी सबसे बड़ी खासियत है।’’

‘‘धोनी भाई टीम के कप्तान के तौर पर काफी सफल रहे हैं। हम सभी उनके आभारी हैं और हम उनका काफी सम्मान करते हैं और ऐसा ही विराट के साथ है।’’

‘‘जब विराट युवा था तो उन्होंने उसका काफी मार्गदर्शन किया था। यहां तक कि जब वो कप्तान बना तब भी धोनी भाई हमेशा उसकी मदद के लिये रहते थे। यह एक कप्तान की खासियत है। यह देखकर अच्छा लगता है कि विराट अब उनके प्रति आभार व्यक्त कर रहा है।’’

पंत को बैक करना चाहिए

शिखऱ धवन ने रिषभ पंत के चल रहे खराब फॉर्म के बारे में कहा,

“पंत एक अच्छे खिलाड़ी हैं और हमें अच्छे खिलाड़ियों को वापस फॉर्म में लाने की जरूरत है। यहां तक ​​कि मैं अपने जीवन में किसी न किसी पैच से अभी भी गुजरता हूं। ये सब इस खेल का हिस्सा और पार्सल है।”

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *