dhawan yogi

Shikhar Dhawan: हाल ही में उत्तर प्रदेश राज्य के सहारनपुर जिले से जुडी एक बड़ी खबर सामने आई थी जिसमें महिला कबड्डी टीम के खिलाड़ियों को टॉयलेट में खाना परोसे जाने की जानकारी मिलने के बाद से ही यह खबर चर्चा में बनी हुई है. सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद से ही कई जानी मानी हस्तियाँ इस मामले में कारवाई को लेकर आवाज उठा चुकी है. वही अब भारत के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (Shikhar Dhawan) ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) से टॉयलेट में रखे खाने को कबड्डी खिलाड़ियों को परोसे जाने वाले मामले में कार्रवाई करने की मांग की.

टॉयलेट में खाना परोसना निंदनीय

Shikhar Dhawan

भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज़ क्रिकेटर धवन (Shikhar Dhawan) ने कहा कि वो राज्य स्तरीय टूर्नामेंट में कबड्डी खिलाड़ियों को टॉयलेट में रखा खाना खाते हुए देखकर बेहद निराश हैं. उन्होंने साफ़ तौर पर ट्विटर पर पोस्ट करते हुए कहा,

 “राज्य स्तरीय टूर्नामेंट में कबड्डी खिलाड़ियों को शौचालय में रखा खाना परोसा जाना बेहद निराशाजनक है. मैं योगी जी और यूपी सरकार से रिक्वेस्ट करता हूँ की इस पर कार्यवाई की जाए.”

बता दें कि स्टेट लेवल के इस टूर्नामेंट में खिलाड़ियों को खाना परोसने के मामले में पहले ही कड़ा कदम उठाते हुए सहारनपुर में जिला खेल अधिकारी अनिमेष सक्सेना निलंबित  किया जा चूका है.

सोशल मीडिया सामने आया था मामला

befunky 2022 8 4 17 17 55 1

शौचालय में रखा खाना परोसे जाने की खबर सोशल मीडिया पर डाली गयी एक वीडियो के जरिये सामने आई थी. इस वीडियो में साफ़ तौर पर बच्चों को खाना लेते हुए देखा जा सकता है. वायरल हो रहे वीडियो में शौचालय के अंदर फर्श पर कागज के एक टुकड़े पर कुछ ‘पूरी’ भी रखी हुई नजर आई.

खिलाड़ियों ने भी शिकायत करते हुए कहा की उन्हें आधा पका खाना परोसा जा रहा था, जो जगह की कमी के कारण टॉयलेट में रखा गया. इस सन्दर्भ में मुख्य सचिव खेल नवनीत सहगल ने बताया कि अनिमेष सक्सेना को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. राज्य सरकार ने एडीएम वित्त एवं राजस्व रजनीश कुमार मिश्रा को घटना की जांच करने का निर्देश दिया.

क्या है पूरा मामला?

Screenshot 2022 09 22 171646

सहारनपुर जिले में 16 सितम्बर को तीन दिवसीय सब-जूनियर गर्ल्स कबड्डी कॉम्पिटिशन का आयोजन किया गया था. इस आयोजन में खिलाड़ियों को दोपहर के खाने में शौचालय के अंदर रखा गया खाना परोसा गया. जिसमें खराब चावल और कागज पर जमीन में रखी ‘पूरी’ भी शामिल थी. ऐसे में युवा खिलाड़ियों के साथ इस बर्ताव को लेकर काफी आवाज उठाई गयी है और हम उम्मीद करते है की जल्द से जल्द कार्यवाई के जरिये बेईमान अफसरों पर कारवाई कर उन्हें कड़ी सजा दी जाये.