ऋषभ पंत

15 जनवरी से गाबा स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया बनाम भारत का आखिरी चौथा टेस्ट खेला जा रहा है. जब से भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर गयी है तब विवादों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा. चौथे टेस्ट में के पहले दिन विवाद तब खड़ा हो गया जब शेन वार्न ने उन्हें चुप रहने की हिदायत देते हुए उनके चश्मे का भी मजाक बना दिया. उनकी इस हरकत से जब फैन्स ने उन्हें ट्रोल करना शुरू किया, इस पर शेन वार्न सफाई देते हुए नजर आये. दरअसल ऋषभ पंत ने टेस्ट के पहले दिन साइनिंग सनग्लासेस पहना था.

शेन वार्न ने उड़ाया ऋषभ पंत के चश्मे का मजाक

ऋषभ पंत

शुक्रवार के दिन भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चौथे टेस्ट की शुरुआत गाबा स्टेडियम में हुयी थी. ऋषभ पंत भारत के लिए विकेटकीपर की भूमिका निभा रहे थे, वही वाशिंगटन सुंदर गेंदबाजी कर रहे थे, तभी ऋषभ पंत वाशिंगटन सुंदर का मनोबल बढ़ाने के लिए उनसे कुछ कहते नजर आये.

इस पर कमेंट्री कर रहे शेन वार्न ने ऋषभ पंत कोई चुप रहने की हिदायत देते हुए, उनके चश्मे को लेकर टिप्पणी कर दी. जिसमें उन्होंने पंत के चश्मे का मजाक उड़ाते हुए कहा कि, ऐसा लग रहा है कि वह किसी स्टेशन से आये है. उनका यह मजाक ऋषभ पंत के साथ उनके फैन्स को भी पसंद नहीं आया.

ट्रोल होने पर सफाई देते नजर शेन वार्न

ऋषभ पंत

उनके द्वारा ऋषभ पंत के मजाक उड़ायें जाने पर उनके फैन्स को उनका ये मजाक पसंद नहीं आया. उनके इस मजाक पर रिप्लाई देते हुए ट्विटर पर एक यूजर ने लिखा कि कल से शेन वार्न और उनके साथी कमेंटेटर ने पंत के धूप के चश्मे का मजाक बनाया है. लगता है वह बहुत निराश हैं और कुछ नहीं. यहां तक ​​कि भारत भी उन्हें उनकी जमीन पर चुनौती दे रहा है. शेन वार्न ने ट्रोलिंग पर अपनी सफाई देते हुए एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा ‘जैसा मैंने कमेंट्री के दौरान कहा था. हम सभी के पास ऐसे चश्‍मे होते हैं.’

इसके साथ ही उन्होंने शिखर धवन का जिक्र करते हुए कहा,

”पिछले कुछ साल में खिलाड़ियों द्वारा धूप के चश्मों को लेकर काफी खराब-खराब पसंद रही है, लेकिन कुछ के द्वारा अच्छा चुनाव भी किया गया है,मुझे पता नहीं कि ये लोग किस श्रेणी में आते हैं.”

https://twitter.com/ShaneWarne/status/1350273352523423746?s=20

शेन वार्न और मार्क वॉ ने पंत को दी चुप रहने की हिदायत

ऋषभ पंत

शेन वार्न ने ऋषभ पंत को विकेटकीपिंग के दौरान उन्हें चुप रहने की हिदायत देते हुए कहा,

”ऋषभ पंत विरोधी बल्लेबाज की स्लेजिंग कर सकते हैं, लेकिन जब गेंदबाज रन-अप ले रहा है तब नहीं. वह बैटिंग के दौरान अपने साथियों के साथ हंस रहे हैं, लेकिन अगर गेंदबाज दौड़ना शुरू कर देता है तो आपको चुप हो जाना चाहिए और बल्लेबाज को ध्यान लगाने देना चाहिए.”

इसके अलावा मार्क वॉ ने भी ऋषभ पंत को शांत रहने की सलाह दी. उन्होंने कहा,

 ”मुझे विकेटकीपर द्वारा कुछ बोलने पर कोई ऐतराज नहीं है, लेकिन जब गेंदबाज गेंद फेंकने जा रहा हो तो उन्हें चुप हो जाना चाहिए. मुझे ऐसा लगता है कि ऐसी बातें अंपायर को नियंत्रित करनी चाहिएं, क्योंकि ये खिलाड़ियों के हाथ की बात नहीं है. वहां पर अंपायर को खेल को कंट्रोल में लेना चाहिए. अगर ये ज्यादा होता है तो इससे खेल प्रभावित होता है.”