Shane Warne

ऑस्ट्रेलियाई टीम के महान स्पिनर गेंदबाज शेन वार्न (Shane Warne) का आकस्मिक निधन क्रिकेट जगत में चर्चा का विषय बना हुआ है. क्रिकेट के खेल की शोभा बढ़ाने वाले सबसे महान लेग स्पिनर वॉर्न ने 4 मार्च को अपने थाईलैंड विला में अंतिम सांस ली.  52 साल की उम्र में राजस्थान रॉयल्स के पूर्व कप्तान का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया, जिससे पूरा क्रिकेट जगत सदमे में है. उनके दोस्तों को भी इस घटना पर विश्वास नहीं हो रहा था. हर कोई उनकी मौत का कारण जानना चाहता है. वही शेन वार्न (Shane Warne) के निधन से पहले की तस्वीर सामने आई है.

Shane Warne की अंतिम तस्वीरें आई सामने

shane-warne

महान स्पिनर गेंदबाज शेन वार्न (Shane Warne) की अंतिम समय की तस्वीर सामने आई है. लॉबी में घूमते समय शेन वार्न सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गये. जहां वार्न को एक कैजुअल लुक में देखा जा सकता है. वार्न ने एक सफेद टी-शर्ट, काली शॉर्ट्स और एक टोपी पहली हुई हैं. वही उनकी बांह पर कई नई शर्ट लिपटी हुई थी. फॉक्स स्पोर्ट्स के अनुसार, वार्न ने लगभग एक घंटा ब्रियोनी टेलर में के पास बिताया, जहां उनके सूट को फिट किया गया था.

वार्न (Shane Warne) उसके बाद कुछ घंटों बाद वार्न को दिल का दौरा पड़ने के बाद अपने बिस्तर पर बेसूद मिले .इस पूरी घटना के बाद उनके परिवार का रिएक्शन सामने आया था. वार्न के परिवार ने खुलासा किया है कि पूर्व क्रिकेटर दिल की समस्याओं से पीड़ित थे. वे 14 दिनों डाईट पर थे, जिससे उनकी मृत्यु हो गई.

निधन के बाद विश्वभर में मनाया गया शोक

Ricky Ponting Breaks Down in Tears While Giving Emotional Tribute to Shane Warne

स्पिनर गेंदबाज शेन वार्न (Shane Warne) के निधन के बाद पूरे विश्वभर शौक लहर फैल गई थी. वॉर्न ने क्रिकेट के क्षेत्र में कई बड़े सफला के झंडे़ गाडे. उनकी हुई अचानक मौत के बाद फैंस गहरे सदमे हैं. कोनों कोने से शोक की शुभकामनाएं और श्रद्धांजलि दी गई, जबकि पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग वार्न के बारे में बोलते हुए लाइव टीवी पर भावुक हो गये थे.

वही भारतीय ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा ने श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट में शतक बनाने के बाद उन्हें याद किया था. क्योंकि रवींद्र जडेजा और वार्न ने पहले आईपीएल के पहले सीजन एक साथ क्रिकेट खेला था. जहां वार्न ने अपने नेतृत्व गाइड किया था. वार्न की प्रतिभा की बात करें तो, उन्होंनें 1001 अंतरराष्ट्रीय विकेटे अपने नाम की.वही इस मामले में मुथैया मुरलीधरन के 1347 के बाद दूसरे स्थान पर है.वार्न एक सफल कमेंटेटर और कोच भी जाने जाते थे.