क्रिकेट से संन्यास के बाद कुछ खिलाड़ी विवादित बयान देते हुए नजर आते हैं. जिससे वो खबरों में बने रहे. उनमें से ही एक पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ी शाहिद अफरीदी भी हैं. जिन्होंने कुछ समय पहले कहा था की भारत के खिलाफ अपने हार के बाद मांफी मांगते हुए नजर आते थे. लेकिन आकड़ो पर यदि नजर डाले तो कहानी कुछ और ही नजर आ रही है.

आकड़े कह रहे की गलत बोले हैं शाहिद अफरीदी

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और दिग्गज आलराउंडर रहे शाहिद अफरीदी ने कुछ समय पहले एक यूट्यूब चैनल पर बातचीत के दौरान बताया की एक समय हम भारतीय टीम को इतना ज्यादा हरा रहे थे की उनके खिलाड़ी आकर मांफी मांगते थे. लेकिन ये बयान किस हद तक सही है. उसके लिए आकड़ो पर नजर दौड़ना बहुत जरुरी है. हालाँकि आकड़े शाहिद अफरीदी को गलत साबित कर रहे हैं.

1996 में शाहिद अफरीदी पाकिस्तान टीम का हिस्सा बने. उसके बाद से विश्व कप में 4 बार भारत और पाकिस्तान का मुकाबला हुआ. अफरीदी के मौजूदगी के बाद भी सभी मौकों पर पाकिस्तान की टीम हार गयी. जबकि टी20 विश्व कप में 5 मुकाबले हुए. जहाँ पर भी पाकिस्तान की टीम के हार को शाहिद अफरीदी टाल नहीं पायें.

एकदिवसीय फ़ॉर्मेट में ठीक ठाक रहा है रिकॉर्ड

टेस्ट फ़ॉर्मेट में शाहिद अफरीदी के मौजूदगी में भारत के खिलाफ पाकिस्तान ने 15 मुकाबले खेले हैं. जिसमें से 5 मैच में जीत तो 5 ही मैच में हार का भी सामना करना पड़ा था. टी20 फ़ॉर्मेट में बात करें तो कुल 8 मैच खेले गये हैं. जिसमें से मात्र एक ही मैच में पाकिस्तान को जीत मिली और 7 मुकाबले उनकी टीम हार गयी है.

हालाँकि एकदिवसीय फ़ॉर्मेट की बात करें तो 67 मैच में शाहिद अफरीदी भारत के खिलाफ खेले. जिसमें से पाकिस्तान की टीम 36 मैच जीती और भारत ने 29 मैच जीते हैं. इस बीच 7 मैच का अंतर जरुर रहा है. लेकिन 2000 के बाद तो ये अंतर 3 मैच का रह गया था. हाल के समय में दोनों टीमों का मुकाबला नहीं हुआ. वर्ना अंतर खत्म हो सकता था.

बल्ले से भी कमाल नहीं किया शाहिद अफरीदी ने

Shahid afridi donates 13.5 lakh rupees to Hurricane victims

भारत के खिलाफ अपने प्रदर्शन के बारें में बात करें तो एकदिवसीय फ़ॉर्मेट में उनका औसत मात्र 25.40 का ही रहा है. उनका गेंदबाजी औसत वैसे तो 34.51 का रहा लेकिन भारत के खिलाफ वो 60.52 का हो गया. जो साफ़ बताता है की भारत के बल्लेबाजों ने उनकी कैसे पिटाई की है. टी20 भारत के खिलाफ उनका औसत 7.57 का रहा गेंद के साथ उन्होंने 52.25 के औसत से विकेट लिए. जिसके बाद भी वो ये बयान देते हुए नजर आ रहे हैं.