दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच छह एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला का आगाज हो गया हैं. दोनों देशों के बीच सबसे पहला वनडे मैच गुरूवार, 1 फरवरी को डरबन किंग्समीड में खेला गया. जहाँ मेहमान टीम इंडिया ने विराट कोहली ने अगुवाई में शानदार खेल दिखाते हुए पहला वनडे पूरे 6 विकेट से जीतकर अपने नाम किया.

दोनों टीमों के बीच दूसरा एकदिवसीय मैच रविवार, 4 फरवरी से सेंचुरियन के सुपरस्पोर्ट्स पार्क में खेला जायेगा. जहाँ विराट एंड कंपनी हर हाल में अपने विजय रथ को जारी रखने के इरादे के साथ मैदान पर उतरेगी.

इस लेख के माध्यम से हम आपको उन ग्याराह भारतीय खिलाड़ियों के नाम बताने जा रहे हैं, जो दूसरे एकदिवसीय में टीम इंडिया का हिस्सा हो सकते हैं.

आइये डालते हैं, एक नजर टीम इंडिया की प्लेयिंग XI पर :-

रोहित शर्मा 

दूसरे एकदिवसीय में टीम इंडिया की पारी का आगाज करने की जिम्मेदारी अनुभवी सलामी बल्लेबाज और टीम के उपकप्तान रोहित शर्मा के कन्धों पर रहेगी. रोहित शर्मा की बात, कि जाए तो मौजूदा समय में उनकी वनडे फॉर्म बहुत ही कमाल की रही हैं. डरबन में रोहित एक बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे थे, लेकिन सेंचुरियन में जरुर एक बड़ी पारी खेलने के लिए बेताब होगे.

शिखर धवन 

रोहित शर्मा के साथ उनके जोड़ीदार के रूप में गब्बर के नाम से मशहुर शिखर धवन नजर आयेगे. शिखर धवन ने डरबन में भी तेज तर्रार 35 रन बनाये थे, जो उनकी अच्छी फॉर्म का सबुत देता हैं. सुपरस्पोर्ट्स पार्क में सभी की नजरे शिखर धवन पर जरुर लगी रहेगी.

विराट कोहली {कप्तान}

कप्तान विराट कोहली टॉप आर्डर के बल्लेबाज की भूमिका में ही दिखाई पड़ेगे. डरबन में खेले गये पहले मैच में कप्तान विराट कोहली ने अपनी प्रभावी कप्तानी और बेहतरीन बल्लेबाजी से सभी का दिल जीता था. सेंचुरियन में भी यदि टीम को अपना विजय रथ जारी रखना हैं, तो कोहली को अपनी फॉर्म को बरकरार रखना होगा.

अजिंक्य रहाणे 

अब बात आती हैं, मध्यक्रम के बल्लेबाजो की… टॉप आर्डर सेट होने के बाद मध्यक्रम में बल्लेबाजी का सारा दारोमदार अनुभवी खिलाड़ी अजिंक्य रहाणे के कंधो पर रहेगा. डरबन में काबिले तारीफ 79 रन बनाने वाले अजिंक्य रहाणे मौजूदा समय में बहुत ही उम्दा फॉर्म से गुजर रहे हैं. आप सभी की जानकारी के लिए बता दे, कि रहाणे अपने लास्ट 5 वनडे मैचों में पांच अर्द्धशतक जड़ चुके हैं.

मनीष पांडेय 

दूसरे वनडे मैच में सबसे पहला बदलाव बल्लेबाजी क्रम में देखने को मिल सकता हैं. अंतिम एकादश में युवा खिलाड़ी मनीष पांडेय को मौका दिया जा सकता हैं. मनीष पाण्डेय को टीम में केदार जाधव के स्थान पर खिलाया जा सकता हैं. डरबन में भले ही जाधव को बल्लेबाजी करने का मौका ना मिला हो, लेकिन पिछले कुछ समय से उनकी फॉर्म बहुत ही खराब रही हैं. ऐसे में टीम में शानदार फॉर्म में चल रहे मनीष पाण्डेय को खिलाया जा सकता हैं.

एमएस धोनी {विकेटकीपर}

विकेटकीपिंग का कार्यभार हर बार की तरह पूर्व कप्तान और चैंपियन खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी को सँभालते हुए नजर आयेगे. मौजूदा समय में एमएस धोनी ना सिर्फ बल्ले से, बल्कि विकेट के पीछे अपने दस्तानों से भी जवाब खेल दिखा रहे हैं. दूसरे वनडे में फैंस जरुर एमएस धोनी से एक बड़ी पारी देखने के लिए बेताब रहेगे.

हार्दिक पंड्या 

बात अगर एक ऑल राउंडर खिलाड़ी की करे, तो इस भूमिका में युवा हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पंड्या नजर आयेगे. हालियां दिनों में भले ही हार्दिक पंड्या का प्रदर्शन विश्व स्तरीय ना रहा हो, लेकिन उन पर से भरोसा बिलकुल भी नहीं हटाया जा सकता. निचले क्रम में विस्फोटक बल्लेबाजी हो या मिडल ओवर्स में गेंदबाजी हर मोर्चे पर सबसे पहले हार्दिक पंड्या ही ध्यान में आते हैं. दूसरे मैच में हार्दिक एक एक्स फैक्टर की भूमिका निभा सकते हैं.

युजवेंद्र चहल 

अब बात अगर स्पिन गेंदबाजो की करे, तो स्पिन गेंदबाजी का दारोमदार युजवेंद्र चहल के कन्धों पर रहेगा. युजवेंद्र चहल मौजूदा समय में बहुत ही शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं. डरबन में भी चहल ने दो बड़े विकेट हासिल किये थे. सेंचुरियन में भी तमाम खेल प्रेमियों को चहल से क़ाफ़ी उम्मीदे रहेगी.

कुलदीप यादव 

युजवेंद्र चहल के साथ दूसरे स्पिन गेंदबाज के रूप में चाइनामैन कुलदीप यादव नजर आयेगे. कुलदीप यादव ना सिर्फ अद्द्भुत फॉर्म से गुजर रहे हैं, बल्कि अपने दमदार प्रदर्शन से उन्होंने सभी को अपना कायल बनाके रखा हुआ हैं. डरबन में कुलदीप यादव ने एक नहीं, बल्कि तीन तीन बड़े विकेट हासिल किये थे. सुपरस्पोर्ट्स पार्क में अगर टीम इंडिया को अपना जीता का सिलसिला आगे बढाने हैं, तो यादव जी को अपनी फॉर्म को बरकरार रखना होगा.

भुवनेश्वर कुमार 

बल्लेबाजो और स्पिन गेंदबाजो के बाद अब बारी आती हैं, टीम की सबसे मजबूत कड़ी तेज गेंदबाजी की… तेज गेंदबाजी का सारा दारोमदार शानदार फॉर्म में चल रहे भुवनेश्वर कुमार के कन्धों पर रहेगा. भुवनेश्वर ने अपनी स्विंग से अभी तक खासी वाहवाही बटौरी हैं. डरबन में भुवी खासे महंगे साबित हुए थे और विकेट भी सिर्फ एक ही ले सके थे. मगर टीम को अगर सेंचुरियन में अच्छा करना हैं, तो उनको मैदान में उतारना ही पड़ेगा.

मोहम्मद शमी 

दूसरे तेज गेंदबाज के रूप में टीम में मोहम्मद शमी को देखा जा सकता हैं. मोहम्मद शमी को युवा तेज गेंब्दाज जसप्रीत बुमराह के स्थान पर अंतिम ग्याराह का हिस्सा बनाया जा सकता हैं. शमी ने टेस्ट सीरीज के दौरान बहुत ही उम्दा गेंदबाजी की थी और अपनी रफ़्तार से मेजबान टीम के बल्लेबाजो को खासा परेशान किया था. ऐसे में टीम मैनेजमेंट मोहम्मद शमी को सेंचुरियन में आजमा सकता हैं.

क्रिकेट...क्रिकेट...क्रिकेट...इस नाम के अलावा मुझे और कुछ पता नहीं हैं. बस क्रिकेट से बेहद प्यार हैं. हमेशा से ही क्रिकेट के बारे में लिखना बहुत पसंद हैं. महेंद्र सिंह धोनी मेरे पसंदीदा खिलाड़ी हैं.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *