VRP213

आईपीएल के जारी सीजन का 45वां मुकाबला मुंबई इंडियंस और राजस्थान रॉयल्स के बीच खेला गया था, मैच के दौरान मुंबई इंडियंस ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 195 रन बनाए थे, जिसके जवाब में उतरी राजस्थान रॉयल्स में संजू सैमसन और बेन स्टोक्स के शानदार प्रदर्शन के बदौलत मैच में जीत हासिल कर ली। मैच के दौरान राजस्थान के स्टार क्रिकेटर संजू का बल्ला लंबे समय बाद चला।

संजू सैमसन ने लगाया अर्धशतक

VRP2138

मुंबई के खिलाफ मुकाबले के दौरान राजस्थान रॉयल्स के खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर नजर डालें तो टीम के स्टार ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने शानदार शतकीय पारी खेली, वही संजू सैमसन के बल्ले से भी जबर्दस्त अर्धशतक देखने को मिला। मैच के दौरान बेन स्टोक्स ने 60 गेंद पर 107 रन बनाए, वही संजू ने 31 गेंद पर 54 रनों की पारी खेली।

सैमसन ने अपनी इस पारी के दौरान चार चौके और तीन छक्के लगाए, इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 174.19 रहा। मैच के दौरान नजारा तब और बेहतरीन हो गया जब संजू ने अर्धशतक लगाने के बाद अपना बाइसेप्स दिखते हुए जश्न मनाए। कई लोगों के मन में सवाल था कि मैच के दौरान संजू सैमसन के बाइसेप्स दिखाने का क्या मतलब है, मैच के बाद संजू सैमसन ने अपनी पारी का जिक्र करते हुए इसका जवाब दे दिया।

इस वजह से संजू सैमसन ने दिखाया बायसेप्स

PN 2117

सैमसन से पूछा गया कि इस खास सेलिब्रेशन का कारण क्या था, उन्होंने बताया कि वह ऐसा करके खुद को अपनी ताकत याद दिला रहे थे, क्योंकि खराब प्रदर्शन में इसी ताकत ने उन्हें डटे रहने का हौंसला दिया। संजू ने इस सीजन की शुरुआत में लगातार दो अर्धशतक लगाए थे, इसके बाद उनका बल्ला कई मैचों में खामोश रहा, हालांकि उन्होंने खुद पर भरोसा नहीं खोया और कोशिश करते रहे।

सैमसन ने मुंबई के खिलाफ जीत के बाद कहा,

  “जब मेरे बल्ले से रन नहीं निकल रहे थे तो मैं खुद पर विश्वास बनाये रखा था, जब आपको किसी टूर्नामेंट में 14 मैच खेलने हों तो प्रदर्शन में उतार-चढाव आते ही हैं, हर विकेट अलग तरह का होता है और उस पर अलग तरीके से खेलना होता है, आज मैंने वही किया”

इस साल संजू सैमसन का प्रदर्शन

564

आईपीएल के मौजूदा सीजन अब तक 12 मैच खेले, जिसमें उन्होंने 29.63 की औसत से 326 रन बनाए, इस दौरान उनके बल्ले से 3 अर्धशतक निकले, उन्होंने कुल 23 छक्के और 17 चौके लगाए। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 157.48 का था। सैमसन के खराब प्रदर्शन का खामियाजा राजस्थान रॉयल्स को भुगतना पड़ा, टीम को कई ऐसे मैचों में हार मिली, जिसे वह जीत सकते थे।