Sanju Samson-KKR IPL

कोलकाता नाइट राइडर्स और राजस्थान रॉयल्स (KKR vs RR) के बीच खेला गया IPL 2021 का 54वां मैच बेहद रोमांचक रहा. इस मैच में संजू सैमसन (Sanju Samson) ने टॉस जीतकर फिल्डिंग करने का फैसला करते हुए इयोन मोर्गन को बल्लेबाजी का न्योता दिया था. परिणामस्वरूप पहले बल्लेबाजी करते हुए केकेआर ने 4 विकेट के नुकसान पर 172 रन का लक्ष्य खड़ा किया था. जिसका पीछा करने उतरी राजस्थान की शुरूआत बेहद खराब रही और 86 रन के बड़े अंतराल के साथ इस मुकाबले को गंवा दिया और यहीं से इस टीम का सफर भी खत्म हो गया है.

केकेआर के खिलाफ बुरी तरह हारी राजस्थान

Sanju Samson

इस मुकाबले में पहले बल्लेबाजी करते हुए केकेआर ने शानदार शुरूआत की थी. इस गेम में शुरू से ही कोलकाता विरोधियों पर हावी रही. पहले उनके सलामी बल्लेबाजों ने बढ़िया शुरुआत दी और एक बड़े स्कोर की नींव रख दी. इसके बाद फिर बारी आई टीम के गेंदबाजों की. उन्होंने भी बल्लेबाजों की मेहनत पर पानी नहीं फिरने दिया. यहां तक कि इस स्कोर के आसपास भी उन्होंने राजस्थान वालों भटकने का मौका नहीं दिया.

पावर-प्ले में ही केकेआर के गेंदबाजों ने राजस्थान के बल्लेबाजों पर धावा बोल दिया और मैच में वापसी का मौका ही नहीं दिया. मावी और लॉकी फर्ग्युसन ने अपने तेज गेंदबाजी की धार से निरंतर विकटों का पतन जारी रखा. हालांकि आखिर में राहुल तेवतिया ने जरूर ताबड़तोड़ पारी खेली. अगर इस मैच में उनका कोई साथ दे देता तो यकीनन वो राजस्थान की की हार को जीत में बदल सकते थे. लेकिन, राजस्थान के बल्लेबाजों का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा. जिसके कारण 86 रन के बड़े अंतराल से इस मैच को संजू सैमसन (Sanju Samson) की टीम ने गंवा दिया.

हार के बाद राजस्थान के कप्तान का छलका दर्द

y5tju

कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ मिला करारी शिकस्त के बाद मैच प्रजेंटेशन में बातचीत करते हुए राजस्थान रॉयल्स के कप्तान संजू सैमसन (Sanju Samson) ने कहा कि,

“मुझे लगता है कि ईमानदारी से कहूं तो यह एक बेहतर विकेट था. नई गेंद से वह थोड़ा नीचे रह रहा था लेकिन बेहतर विकेट था. इस विकेट पर 171 रन का लक्ष्य था. मुझे लगता है कि हम अच्छी शुरुआत करना चाहते थे. हमें एक शक्तिशाली पावरप्ले की जरूरत थी. हमने जो भी योजना बनाई थी हम उस पर अमल करना चाहते थे लेकिन ऐसा करने में हम असफल साबित हुए. मुझे लगता है कि अगर आप पूरे सीजन को देखें तो हम कई चुनौतियों से गुजरे हैं.

हालांकि हमने कई कैरेक्टर दिखाए और मुझे लड़कों पर गर्व है. हमने कुछ करीबी मैच जीते और कुछ आसान मैच गंवा दिए. हमें इस टूर्नामेंट में और मैच जीतने के लिए बेहतर स्तर का क्रिकेट खेलने की जरूरत है. हर कोई पॉजिटिव वाइब्स के साथ आया. लोग वहां (यूएई) जाने और हमारे लिए गेम जीतने के लिए तैयार थे. कप्तान होने के नाते मैंने अपनी पारी को देखने का नजरिया बदल दिया. यह हमेशा मैच की स्थितियों के बारे में सोचने को लेकर था. मैं बहुत सारे रन बनाने के बावजूद गेम जीतना पसंद करता.”