images 70
Pic credit: Getty images

आप अपने दौर के कितने भी बड़े खिलाड़ी बन जाइए लेकिन अनुभव को आप पझाड़ नहीं सकते। शायद इस लिए कोच किसी ऐसे को चुना जाता हैं जिसके पास अनुभव हो। जब किसी भी टीम का कोई खिलाड़ी अपने फॉरमेट से सन्यास ले चुका होता हैं और अपनी टीम के मैच के दौरान खेल देखने या मैच के दौरान कमेंट्री करने पहुंचता हैं तो खिलाड़ी उनके अनुभव का फायदा उठाते हैं।

unnamed 17
Pic credit: Getty images

इंग्लैंड और भारत के बीच चल रहे पहले टेस्ट मुकाबले में संजय मांजरेकर एक कमेंटेटर के रूप में इंग्लैंड पहुंचे हैं। मैच के दौरान ब्रेक के समय चल रहे शो में दीप दास गुप्ता के एक सवाल का संजय ने कुछ ऐसा जवाब दिया की सब हैरान रह गए।

दीप दास गुप्ता ने  पूछा यह सवाल, तो जवाब सुन आप रह जाएंगे दंग

images 69
Pic credit: Getty images

दीप दास गुप्ता ने पोस्ट इनिंग ब्रेक शो के दौरान संजय मांजरेकर से पूछा कि ” आप तो मैदान पर ही थे ? तो क्या आपने किसी भी भारतीय खिलाड़ी से पूछा की तीसरे दिन कि क्या प्लानिंग हैं? “

इस पर संजय का जवाब बड़ा चौंकाने वाला आया । संजय कहते हैं कि “मुझसे भारतीय खिलाड़ी ज्यादा बात नहीं करते है ।मैं भी आता हूं और अपना काम करके चला जाता हूं। मैं भी सिर्फ अपने काम से काम रखता हूं।”

भारत के लिए बल्लेबाज संजय मांजरेकर का टेस्ट योगदान

images 70
Pic credit: Getty images

भारत के लिए संजय मांजरेकर ने कुल 37 टेस्ट मैच मुकाबलों में 36.48 की औसत से 2043 रन बनाए हैं। जिसमें उनका सर्वाधिक स्कोर 218 रन हैं। भारत के एक बेहतरीन टेस्ट अनुभवी खिलाड़ी का ऐसा कहना बड़े आश्चर्य की बात हैं।

बात अगर एकदिवसीय क्रिकेट की भी करी जाए तो संजय ने कुल 74 एकदिवसीय पारी में 33.23 की औसत से 1994 रन बनाए हैं। एकदिवसीय में इनका सर्वाधिक स्कोर 105 रन हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.