Shaheen Afridi - Sanjay Bangar - Mohammed Shami

टी20 विश्वकप 2022 में भारत और पाकिस्तान की भिड़ंत को लेकर सभी बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। 23 अक्टूबर को मेलबर्न क्रिकेट ग्राउन्ड चिर प्रतिद्वंदीयों के घमासान का गवाह बनने वाला है। ऐसे में सभी की नजरें दोनों टीमों के खिलाड़ियों पर टिकी हुई है। केएल राहुल, विराट कोहली और सूर्यकुमार यादव की जबरदस्त फॉर्म के चलते टीम इंडिया का बल्लेबाजी क्रम दुरुस्त नजर आ रहा है।

वहीं गेंदबाजी क्रम में मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) भरोसा दे रहे हैं। दूसरी ओर पाकिस्तान के शाहीन शाह अफरीदी (Shaheen Afridi) पर सभी की नजरें टिकी है। इस बीच टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाजी कोच संजय बांगर ने शाहीन और शमी की तुलना करते हुए दिलचस्प बयान दिया है।

संजय बांगर ने Shaheen Afridi को लेकर दिया बयान

संजय बांगर ने भारत-पाक मुकाबले से ठीक पहले बताई शाहीन अफरीदी की सबसे बड़ी कमजोरी - क्रिकट्रैकर हिंदी

चोट से वापसी कर रहे शाहीन अफरीदी (Shaheen Afridi) ने अभ्यास मैचों में एक बार फिर सटीक गेंदबाजी करते हुए अपनी टीम को मजबूती प्रदान की है। इंग्लैंड के खिलाफ पहले अभ्यास मैच में वह थोड़ा संघर्ष करते हुए नजर आए, लेकिन दूसरे वार्म-अप मुकाबले में उन्होंने अफगानिस्तान के खिलाफ पहले ही ओवर में सलामी बल्लेबाज को चोटिल कर उनका विकेट झटक लिया। लेकिन टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाजी कोच संजय बांगर का मानना ही कि शाहीन ने मोहम्मद शमी के मुकाबले हल्की वापसी की है। संजय ने कहा,

“मुझे नहीं लगता कि शाहीन अफरीदी की वापसी मोहम्मद शमी की तरह अच्छी थी। खास बात यह रही कि उन्होंने एक भी अंदर आने वाली गेंद नहीं फेंकी। उनकी सभी गेंद बल्लेबाज से दूर जा रही थी, जिसका मतलब है कि वह अभी तक क्रीज पर अपनी स्थिति के बारे में पूरी तरह आश्वस्त नहीं हैं जो उनकी ताकत रही है।”

गौरतलब है कि शाहीन शाह अफरीदी (Shaheen Afridi) चोटिल होने के बाद लगभग 2 महीने के आराम के साथ वापसी कर रहे है। एशिया कप 2022 की शुरुआत से पहले उनके घुटने में चोट लगी थी।

23 अक्टूबर को होगी भारत-पाकिस्तान की भिड़ंत

Rohit Sharma-Babar Azam

इसके साथ ही आपको बता दें कि भारत को टी20 विश्वकप 2022 के पहले ही मैच में पाकिस्तान का सामना करना है। बीते 12 महीनों में भारत-पाकिस्तान ने 3 बार एक दूसरे का आमना-सामना किया है, जिसमें से 3 बार बाबर आजम की अगुवाई वाली टीम ने बाजी मारी है। ऐसे में साफ तौर पर टीम इंडिया को 23 अक्टूबर को बेहद सावधान रहना पड़ेगा। क्योंकि पाकिस्तान से हारने के बाद शायद वर्ल्डकप का सफर भी मुश्किल में आ सकता है।