kumar sangakkara Lash Out On R. Ashwin

R. Ashwin: हार्दिक पांड्या की कप्तानी वाली टीम गुजरात टाइटंस ने राजस्थान रॉयल्स को 7 विकेट से मात देकर आईपीएल 2022 ट्रॉफी अपने नाम की। इस निर्णायक मुकाबले में राजस्थान के खिलाड़ियों का खेल प्रदर्शन बेहद खराब रहा।

जहां आर अश्विन ने फिसड्डी गेंदबाजी का नजराना पेश किया, तो वहीं चहल और हेटमायर ने शुभमन गिल को दो जीवनदान दिए। इस हार के बाद कुमार संगकारा ने अश्विन (R. Ashwin), चहल और हेटमायर की क्लास लगाई। आइए जानते हैं कि इनके बारे में संगकारा का क्या कहना है…

R. Ashwin की कुमार संगकारा ने लगाई अश्विन की क्लास

R. Ashwin MOTM vs CSK-IPL 2022

राजस्थान रॉयल्स के हरफनमौला खिलाड़ी आर अश्विन (R. Ashwin) ने प्लेऑफ के तीन मैचों में 100 से ज्यादा रन खर्च किए और उन्हें एक ही विकेट मिला। उनके अलावा चहल भी फ्लॉप ही नजर आए। इसके अलावा फाइनल मैच में फील्डिंग के दौरान युजवेंद्र चहल और शिमरोन हेटमायर ने गिल का अहम कैच छोड़ा। गुजरात के खिलाफ मिली हार के बाद राजस्थान रॉयल्स के क्रिकेट निदेशक कुमार संगकारा ने इन खिलाड़ियों के प्रदर्शन को लेकर बयान दिया और कहा,

“अश्विन ने हमारे लिए बेहतरीन प्रदर्शन किया है। क्रिकेट के मैदान पर उनकी उपलब्धियां उन्हें लीजैंड बनाती हैं। इसके बावजूद सुधार की गुंजाइश है, खास तौर पर उन्हें ऑफ स्पिन गेंद अधिक डालनी चाहिए। 130 रन कभी काफी नहीं थे। हम यह भी बात कर रहे थे कि पहले गेंदबाजी चुनी जाए। जब हम मैदान पर पहुंचे तो पिच सूखी थी और हमें लगा कि यह धीमी हो जायेगी, जिससे हमारे स्पिनरों को टर्न मिलेगा।”

“हम 160 और 165 रन की उम्मीद कर रहे थे। हमने दस ओवर में एक विकेट पर 70 रन बनाए थे और हम अच्छी स्थिति में थे, लेकिन संजू के आउट होने के बाद उनके गेंदबाजों ने दबाव बना लिया। हमने पावरप्ले में उनके कुछ विकेट निकाले लेकिन शुभमन गिल को पहले ओवर में जीवनदान देना महंगा पड़ा।”

ऐसा राजस्थान का फाइनल मैच

RR vs RCB Qualifier 2 Result IPL 2022

अगर आईपीएल 2022 के फाइनल मैच की बात करें तो ये मुकाबला काफी लो सकोरींग रहा। टॉस जीतकर संजु सैमसन ने पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया। संजु का ये फैसला टीम पर भारी पड़ा। पहले बल्लेबाजी करते हुए राजस्थान रॉयल्स ने गुजरात को 131 रन का टारगेट दिया, जिसे गुजरात ने 7 विकेट के साथ पूरा किया। इसी के साथ 14 साल बाद फाइनल में आकर बबी राजस्थान रॉयल्स ट्रॉफी न जीत सकी।