सैम

आईपीएल में दुनियाभर से बड़े-बड़े क्रिकेटर हिस्सा लेते हैं। युवा खिलाड़ियों के पास दिग्गजों के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर करने का मौका होता है, जो उन्हें ग्रूम करने में मदद करता है। भारत को ही नहीं बल्कि कई टीमों को आईपीएल से स्टार खिलाड़ी मिले हैं, ऐसे ही एक खिलाड़ी का नाम है Sam Curran। जी हां, चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलने वाले करन अब अपनी टीम के अहम सदस्य बन चुके हैं। इंग्लैंड के कोच ग्राहम थोर्प भी करन के खेल की जमकर तारीफ करते नजर आए हैं।

IPL ने की है Sam Curran की मदद

319542.6

इंग्लैंड क्रिकेट टीम के युवा ऑलराउंडर खिलाड़ी सैम करन (Sam Curran) इस वक्त श्रीलंका टीम के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने पहले टी20 सीरीज में श्रीलंका के खिलाफ 5 विकेट चटकाए और फिर दूसरे वनडे में फाइव विकेट हॉल लिया। उनके प्रदर्शन से सभी प्रभावित हैं और टीम के मुख्य कोच ग्राहम थोर्प तो सैम के फैन हो गए हैं। थोर्प ने कहा,

“मुझे लगता है कि आईपीएल ने उनकी काफी मदद की। सैम जिस भी माहौल में गया है, उसने प्रतिस्पर्धा करने की क्षमता और प्रदर्शन करने का तरीका खोजने की क्षमता दिखाई है।”

करन को मिल रहे हैं अच्छे अनुभव

Sam Curran को आईपीएल 2020 के ऑक्शन में चेन्नई सुपर किंग्स ने अपने साथ जोड़ा था। इसके बाद तो इस युवा खिलाड़ी के खेल में काफी परिवर्तन देखने को मिला है। ना केवल गेंद बल्कि वह बल्ले से भी काफी सहज हो गए हैं। उनकी बल्लेबाजी क्षमता को लेकर थोर्प ने कहा,

“बल्ले से उनकी हिट करने की क्षमता हमेशा थी। मुझे लगता है कि यह वास्तव में एक अच्छे लेवल पर आगे बढ़ा है। वह आईपीएल में महत्वपूर्ण समय पर गेंदबाजी कर रहा है, इसलिए दबाव में चुनौती ले रहा है। 23 साल की उम्र में, उसे वास्तव में कुछ अच्छे अनुभव मिल रहे हैं।”

करन खेलें सभी फॉर्मेट

Sam Curran

Sam Curran ने आईपीएल 2020 में चेन्नई के लिए 14 मैचों में 13 विकेट चटकाए थे और 186 रन बनाए थे। इस साल टूर्नामेंट के स्थगित होने से पहले युवा ने 7 मैचों में 9 विकेट चटकाए और 52 रन बनाए। अब इंग्लिश कोच चाहते हैं कि Sam Curran सभी फॉर्मेट खेलने वाले खिलाड़ी बनें। थोर्प ने कहा,

“बेशक, उसे अभी भी वास्तव में कड़ी मेहनत करनी है। टी 20 क्रिकेट में करन वास्तव में अच्छी तरह से आगे बढ़ा है, लेकिन मुझे लगता है कि खुद को 50 ओवर के खिलाड़ी के रूप में स्थापित करना भी इसका एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। उसे टेस्ट क्रिकेट के लिए भी कोशिश करनी होगी।”