साल 2007… जी हां, यह वहीं साल था जिसे भारतीय क्रिकेट प्रेमी शायद ही कभी भुला सके. इसी साल टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका में खेले गये सबसे पहले टी20 विश्व कप को जीतकर अपने नाम किया था. कहने को तो पूरे विश्व कप के दौरान भारतीय टीम ने कई दिलचस्प और रोमांचक मुकाबलें खेले थे, लेकिन एक मैच ऐसा भी था जो हमेशा हमेशा के लिए इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया.

2007 टी20 विश्व कप का सेमीफाइनल भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया था. यह वहीं ऑस्ट्रेलियाई टीम थी जिसने साल 2003 में भारत के विश्व कप जीतने के सपने को चुरचुर कर दिया था और इस मैच से पहले हर एक भारतीय खिलाड़ी के साथ साथ पूरा देश बदला की आग में झुलस रहा था.

श्रीसंत ने किया एक गजब का खुलासा

टी20 विश्व कप का सेमीफाइनल मैच डरबन के मैदान पर खेला गया था और इस मैच को भारत ने 15 रनों से जीतकर अपने नाम किया. टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज एस श्रीसंत ने इस मैच से जुड़ा एक बेहद ही शानदार किस्सा शेयर किया. काऊ कार्नर क्रॉनिकल से बात करते हुए श्रीसंत ने कहा,

”मुझे याद है कि पहली ही गेंद पर चौका मार दिया जब मैंने हेडन को यॉर्कर फेंकने की कोशिश की. अगर आप उस मैच को देखते हैं तो मैं बहुत अधिक जुनून के साथ दौड़ रहा था. मैं सिर्फ ऑस्ट्रेलिया को हराना चाहता था. जिस तरह से उन्होंने 2003 विश्व कप में भारत को हराया, वह हमेशा मेरे दिमाग में घूमता रहता है. मैं सचमुच ऑस्ट्रेलिया को मारना चाहता था.”

मेरी जिंदगी का सबसे बेहतरीन मैच

इस मैच में टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 188/5 का स्कोर बनाया और ऑस्ट्रेलिया मात्र 173/7 रन ही बना सकी और भारत ने मैच जीतकर फाइनल में प्रवेश किया. श्रीसंत ने आगे कहा,

“मुझे आस्ट्रेलियाई लोगों पर बहुत गुस्सा आता था. मुझे बहुत गर्व है और भगवान बेहद दयालु हैं कि एक मैच हर कोई उस मैच के बारे में बात करता है. मैंने अपने देश के लिए जो सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी की है, वह मैच है. मैंने काफी डॉट बॉल फेंकी थी. मुझे याद है कि मैं दो चौके के लिए गया था और कुल मिलाकर सिर्फ 12 रन बना.

मैच में श्रीसंत ने मैथ्यू हेडन 62 और कप्तान एडम गिलक्रिस्ट 22 को अपना शिकार बनाया था.

AKHIL GUPTA

क्रिकेट...क्रिकेट...क्रिकेट...इस नाम के अलावा मुझे और कुछ पता नहीं हैं. बस क्रिकेट...