b82ec9e1 a9fd 4d93 b220 30f37541950a

चेन्नई सुपर किंग्स के स्टार क्रिकेटर ऋतुराज गाइकवाड़ पिछले कुछ दिनों से काफी चर्चा में है। शुरुवाती 3 मैच में फेल होने वाले ऋतुराज गाइकवाड़ ने चेन्नई के अगले 3 मैच में लगातार अर्धशतक लगाए। चेन्नई सुपर किंग्स में शानदार प्रदर्शन करने के बाद मानो ऋतुराज की जिंदगी बदल गई हो। इसी क्रम में ऋतुराज ने सोशल मीडिया पर अपनी लाइफ के बेस्ट मोमेंट को शेयर किया।

ऋतुराज ने शेयर किया धोनी के साथ के बेस्ट मोमेंट

गायकवाड़ ने धोनी के साथ अपने चार साल के सफर को सोशल मीडिया पर शेयर किया। ऋतुराज गाइकवाड़ ने  दो तस्‍वीरें भी शेयर की, जिसमें एक तस्‍वीर में उनके प्‍लास्‍टर लगे हाथ पर धोनी ऑटोग्राफ देते हुए नजर आ रहे हैं और दूसरी फोटो में वह धोनी के साथ क्रीज पर पार्टनरशिप कर रहे हैं।

ऋतुराज गाइकवाड़ ने लिखा कि वह अक्‍टूबर 2016 में धोनी से पहली बार मिले थे। डेब्‍यू रणजी मैच में उनकी उंगुली में फ्रेक्‍चर हो गया था, जिसके बाद झारखंड के मेंटर धोनी खुद उनके पास आए और उनकी चोट के बारे में पूछा। फिर ऋतुराज ने इस आईपीएल के बारे में लिखा अक्‍टूबर 2020 में 3 बार फ्लॉप होने के बाद धोनी खुद उनके पास आए और जिंदगी के बारे में बात की।

इस साल ऋतुराज ने किया शानदार प्रदर्शन

new project 2020 11 01t205706 1604244446

ऋतुराज गाइकवाड़ ने आईपीएल के इस सीजन 6 मैच खेले, जिसमें उन्होंने 204 रन बनाए, इस सीजन ऋतुराज ने तीन लगातार अर्धशतक लगाए। शुरुवाती कुछ मैच में चेन्नई सुपर किंग्स ने ऋतुराज को एक मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज के तौर पर मैदान पर उतारा। उस दौरान वह शानदार प्रदर्शन करने में असफल रहे, लेकिन जब उन्हे एक ओपनर के तौर पर मौका मिला तो उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया।

ऋतुराज के प्रदर्शन को देखकर चेन्नई सुपर किंग्स के फैंस ने उम्मीद जताई की अगर चेन्नई सुपर किंग्स शुरू से ही ऋतुराज पर भरोसा जताती तो शायद इस सीजन चेन्नई सुपर किंग्स और बेहतर प्रदर्शन कर सकती थी। चेन्नई सुपर किंग्स के ओपनर खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर नजर डाले तो ऋतुराज से पहले जो भी खिलाड़ी खेले वह बेहतर प्रदर्शन करने में असफल हुए थे।

चेन्नई के कई ओपनर हुए फेल

csk vs dcc1 1603013962

चेन्नई ने ऋतुराज से पहले मुरली विजय को एक ओपनर बल्लेबाज के तौर पर मैदान पर उतारा, लेकिन वह शानदार प्रदर्शन करने में असफल रहें। मुरली विजय 3 मैच में महज 32 रन बना सके थे। वहीं चेन्नई ने सहने वॉटसन को भी मौका दिया, लेकिन वह भी कुछ कमाल नहीं कर सके। जब टीम ने ऋतुराज को मैदान पर उतारा तो उन्होंने बेहद शानदार प्रदर्शन किया।