Ruturaj Gaikwad-MOM

सुपर शनिवार में चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स (CSK vs RR) के बीच खेला गया दूसरा मुकाबला बेहद रोमांचक रहा. रूतुराज गायकवाड़ (Ruturaj Gaikwad) ने को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया. टॉस जीतकर संजू सैमसन (Sanju Samson) ने फिल्डिंग कने का फैसला करते हुए एमएस धोनी (MS Dhoni) को बल्लेबाजी का न्योता दिया था. पहले बल्ले से कमाल करने उतरी चेन्नई ने 4 विकेट के नुकसान पर 190 रन का पहाड़ जैसा लक्ष्य खड़ा किया था. जिसका पीछा करने उतरी राजस्थान ने पावर-प्ले में ही 50 से ज्यादा रन बना लिए थे. इस लक्ष्य को 15 गेंद शेष रहते ही संजू सैमसन की टीम ने हासिल करते हुए मुकाबले आसानी से जीत लिया.

सलामी बल्लेबाज की शतकीय पारी हुई बर्बाद

Ruturaj Gaikwad

चेन्नई सुपर किंग्स की ओर से रूतुराज गायकवाड़ (Ruturaj Gaikwad) ने जबरदस्त पारी खेली थी. 190 रन के स्कोर में 101* रन उन्हीं के बल्ले से निकला था. इस पारी में उन्होंने 9 चौके और 5 गगनचुंबी छक्के जड़े थे. इस बेहतरीन प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच के खिताब से नवाजा गया है. लेकिन, उनकी इस पारी को टीम के गेंदबाज बचा नहीं सके. इस पारी के साथ ही ऑरेंज कैप की लिस्ट में भी सीएसके के इस सलामी बल्लेबाज ने लंबी छलांग मारी है. इस सूची में गायकवाड़ पहले स्थान पर आ गए हैं.

हालांकि जब चेन्नई ने 190 रन का लक्ष्य खड़ा किया तो ऐसा लगा कि, जैसे ये विरोधी टीम के लिए हासिल करना मुश्किल होगा. लेकिन, यशस्वी जायसवाल (50/19) और शिवम दुबे (64/42) ने टीम की इस चिंता को दूर करते हुए वाकई में सीएसके के खिलाफ हल्ला बोल दिया. यूएई लेग में पहली बार राजस्थान टीम के मध्यक्रम में इस तरह की मैच जिताऊ पारी किसी बल्लेबाज ने खेली है. खास बात तो ये है कि इस ताबड़तोड़ जीत के साथ ही राजस्थान ने प्लेऑफ में पहुंचने की उम्मीद को भी जिंदा रखा है.

मैन ऑफ द मैच बने सलामी बल्लेबाज ने खोला अपने प्रदर्शन का राज

photo 2021 10 03 00 49 53

MOM का सम्मान मिलने के बाद मैच प्रजेंटेशन में बात करते हुए रूतुराज गायकवाड़ (Ruturaj Gaikwad) ने कहा कि,

“शुरुआत में यह धीमा विकेट था. जैसे-जैसे खेल आगे बढ़ा. यह बेहतर होता गया. एक बल्लेबाज के लिए 14वें ओवर तक टिके रहना जरूरी था. मैं पिछले कुछ मैचों में ऐसा नहीं कर पाया था लेकिन, शुक्र है कि यह आज हुआ. मैं गेंद को अच्छी तरह से टाइम करने पर काम कर रहा हूं और अपने शेप को बनाए रखने की कोशिश कर रहा हूं.

इस पर मैं कई सालों से काम कर रहा हूं. जब से मैंने क्रिकेट खेलना शुरू किया है मैंने टाइमिंग पर भरोसा किया है. आज भी मैंने गेंद को टाइम करने पर यकीन किया.”

photo 2021 10 03 00 50 04

आगे बात करते हुए Ruturaj Gaikwad ने यह भी कहा कि,

“साल 2019 में सीएसके टीम में मेरा चयन हुआ. लेकिन, मुझे खेलने का मौका नहीं मिला. ड्रेसिंग रूम में होने की वजह से जरूर मुझे काफी कुछ सीखने को मिला. मुझे कुछ रूटीन के बारे में पता चला. साथ ही ये जानकारी मिली कि मुझे कितनी मेहनत करनी है. यह मेरे लिए सीखने का बहुत अच्छा वक्त था.

उस एक चीज ने वास्तव में मेरी बहुत मदद की यह एक सपना था. जो धीमी गति से शुरू हुआ शतक बनाने का सपना नहीं देखा. लक्ष्य शायद कुल 160-170 तक पहुंचना था. मुझे यह (ऑरेंज कैप) पसंद है. लेकिन मैं आज जीत की तरफ जाना पसंद करता.”