RP Kharel One hand Bowler Nepal

क्रिकेट के खेल को लेकर दीवानगी के आपने अबतक हजारों किस्से सुने होंगे, लेकिन RP Kharel के बारे में जानकर आपका दिन बन जाएगा। हालांकि विश्व भर में क्रिकेट के चाहने वालों की कमी नहीं है। क्रिकेट के मैदान में हमें खिलाड़ियों के जज्बे और खेल के प्रति उनके पैशन के सबूत मिलते हैं। चाहे वो अनिल कुंबले का टूटे हुए जबड़े से टेस्ट मैच में गेंदबाजी करना हो, विराट कोहली का विश्वकप 2011 सेमी फाइनल में गर्दन की चोट के साथ खेलना हो।

इन सब उदाहरणों से साबित होता है कि क्रिकेट (Cricket) खेल से भी कहीं ज्यादा है। लेकिन आज हम आपके लिए ऐसा वीडियो लेकर आए है, जिसे देखने के बाद आपको अपने जीवन की हर परेशानी बौनी लगने लग जाएगी।

नेपाल का ये खिलाड़ी एक हाथ से करता है गेंदबाजी

Kharel

कहते हैं क्रिकेट (Cricket) में तेज गेंदबाजी करने के लिए खिलाड़ी के दोनों हाथ बेहद मजबूत होने चाहिए। जब तक दोनों हाथों से दम नहीं लगाया जाए तब तक गेंदबाजी करना नामुमकिन है। लेकिन नेपाल के दिव्यांग क्रिकेटर RP Kharel ने इन सभी किताबी बातों को झुठला दिया है। इस खिलाड़ी का एक हाथ ना होने के बावजूद ये एक ही हाथ से तेज गति से गेंदबाजी करता है गेंद को स्विंग करते हुए क्लीन बोल्ड भी कर देता है। RP Kharel का गेंदबाजी करते हुए वीडियो सोशल मीडिया पर बड़ी तेजी से वायरल हो रहा है।

एक हाथ से गेंदबाजी करते हुए क्रिकेट (Cricket) की गेंद को इस कदर स्विंग कराना किसी करिश्मे के जैसा ही है। इस वीडियो को देखकर क्रिकेट के चाहने वाले भी हैरान है, एक यूजर्स ने इस वीडियो पर कमेन्ट करते हुए लिखा हवा में गेंद को स्विंग करा दिया कमाल है।’ दूसरे यूजर ने लिखा, ‘ये क्रिकेटर रीयल हीरो है।’ एक अन्य यूजर ने लिखा, ‘यह वीडियो उन लोगों को दिखाएं जिन्होंने कहा कि क्रिकेट सिर्फ एक टाइमपास गेम और फिक्सिंग टूर्नामेंट है।

क्रिकेट के खेल को इमोशनल बनाते हैं RP Kharel जैसे खिलाड़ी

T20 Cricket Biggest Score

जीवन की छोटी मोटी कठिनाइयों के सामने हार मानने वाले लोगों के लिए एक एक वीडियो से ज्यादा प्रेरणा दायक कुछ नहीं हो सकता है। इस वीडियो में भले ही RP Kharel की गेंदबाजी को दर्शाया गया है। लेकिन इस मैच में मौजूद सभी खिलाड़ी किसी ना किसी प्रकार से शारीरिक चुनौती का सामना करते हुए क्रिकेट (Cricket) की अपनी भूख को मरने नहीं दे रहे हैं। इस खेल में शामिल होने वाले हर खिलाड़ी का जज्बा दुनिया के लिए मिसाल है। इससे ये भी साबित होता है कि क्रिकेट सिर्फ एक खेल नहीं बल्कि इमोशन है।