रोहित शर्मा

भारत-इंग्लैंड के बीच जारी 4 मैचों की टेस्ट सीरीज के दूसरे दिन बल्लेबाजी करने उतरे रोहित शर्मा लगातार चर्चाओं में बने हुए हैं. दरअसल दूसरे खेल की शुरूआत हुई और 7 ओवर में पूरी टीम इंडिया 329 रन पर ऑलआउट हो गई. इसके बाद अपनी पहली पारी में बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लिश टीम आर अश्विन की गेंदबाजी के सामने ज्यादा देर तक टिक नहीं सकी, और 59.5 ओवर में पूरी टीम 134 रन पर ऑलआउट हो गई.

रोहित शर्मा को लेकर लिए गए थर्ड अंपायर के डिसिजन पर उठा सवाल

अजिंक्य रहाणे

 

हालांकि दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने उतरे रोहित शर्मा को जिस तरह से थर्ड अंपायर ने नॉटआउट करार दिया उससे इंग्लैंड के कप्तान जो रूट भी सहमत नजर नहीं आए थे. ऐसे में अब इस मुद्दे को पर तकनीकी तौर पर भी बहस शुरू हो चुकी है. क्योंकि थर्ड अंपायर अनिल चौधरी ने रोहित को गेंद का इंपैक्ट ऑफ साइड से बाहर होने के आधार पर नॉट आउट करार दिया था.

हालांकि यहां बात करें गेंद के इंपैक्ट के बाहर होने पर उठ रहे विवादों की तो, इसका फैसला बल्लेबाज के शॉट खेलने और न खेलने की हालात को देखकर लिया जाता है. यदि कोई बल्लेबाज शॉट खेलने के लिए जाता है और एलबीडब्ल्यू हो जाता है तो गेंद के इंपैक्ट को पहला मापदंड माना जाता है.

मैदानी अंपायर की वजह से आउट होने से बचे रोहित शर्मा

रोहित शर्मा-थर्ड अंपायर

इसके साथ ही यदि कोई बल्लेबाज शॉट्स खेलने की कोशिश नहीं करता है, तो उस स्थिति में गेंद का इंपैक्ट किसी तरह से मान्य नहीं होता है. लेकिन रोहित शर्मा के मामले में मैच के दूसरे दिन जो हुआ उसे लेकर उठ रहे विवाद और बहस की एक और वजह है.

दरअसल डीआरएस के मसले में थर्ड अंपायर जो भी निर्णय लेते हैं, वो ज्यादातर मैदानी अंपायर की निर्णय के हिसाब से लेते हैं. रोहित शर्मा के मामले में मैदानी अंपायर वीरेंद्र शर्मा से जो गलती हुई वो यह थी कि उन्होंने थर्ड अंपायर को अपनी कॉल में बताया कि रोहित ने गेंद को बल्ले से खेलने की कोशिश की है शॉट्स खेलने का प्रयास किया है.

मैदानी अंपायर की वजह से थर्ड अंपायर ने रोहित शर्मा को लेकर लिया गलत फैसला

रोहित शर्मा

थर्ड अंपायर को मैदानी अंपायर से जो कॉल गई उसी के आधार पर तीसरे अंपायर, अनिल चौधरी ने इंपैक्ट को मापदंड बनाया. अब क्योंकि इंपैक्ट ऑफ स्टंप के बाहर था, इसलिए उन्होंने रोहित को नॉटआउट करार दिया. लेकिन इस फैसले के खिलाफ विवाद तेजी से बढ़ रहा है.

कई बड़े दिग्गज भी इसकी आलोचना कर रहे हैं. लेकिन वीडियो में आप देख सकते हैं कि, जब रीप्ले में देखा गया, तो रोहित ने कोई शॉट्स खेलना का प्रयास नहीं किया था, और वो आउट थे.