Rohit Shara Statement After MI vs RR IPL 44 Match

RR vs MI: 44वें आईपीएल 2022 मैच में रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की कप्तानी वाली मुंबई इंडियंस को फाइनली इस सीजन की पहली जीत हाथ लगी. 30 अप्रैल को मुंबई इंडियंस और राजस्थान रॉयल्स के बीच खेले गए इस रोमांचक मैच में दोनों टीमें जीत के लिए पूरा जोर लगाती हुई नजर आईं. पहले बल्लेबाजी करते हुए आरआर ने 159 रनों का लक्ष्य रखा था. जिसके जवाब में उतरी मुंबई इंडियंस ने 5 विकेट से शानदार जीत दर्ज करते हुए इस सीजन में अपना खाता खोला है. इस जीत के बाद रोहित शर्मा (Rohit Sharma) के चेहरे पर सुकून देखने को मिला और उन्होंने क्या कुछ कहा इसके बारे में भी आपको बता देते हैं.

लगातार 8 मैचों में मिली हार के बाद मुंबई ने खोला जीत का खाता

RR vs MI - Mumbai Indians Won

दरअसल बर्थ डे बॉय रोहित शर्मा (Rohit Sharma) के चेहरे पर जीत के बाद मुस्कान थी और हो भी क्यों ना, इसके लिए पूरी मुंबई टीम को काफी लंबा इंतजार करना पड़ा. लगातार 8 मैच में मिली शिकस्त के बाद आखिरकार ये हो पाया है. पहली बार किसी आईपीएल सीज़न में मुंबई टीम को इतना जीत के लिए इतना ज्यादा इंतजार करना पड़ा है.

हालांकि आज पहले उनके गेंदबाज़ो ने शानदार गेंदबाज़ी करते हुए राजस्थान के बल्लेबाजों को एक बड़ा लक्ष्य देने से रोक दिया था. युवा कार्तिकेय और शौकीन ने शानदार गेंदबाज़ी की और लोगों का दिल जीत लिया. वहीं बल्लेबाजी करने उतरे सूर्या और तिलक वर्मा ने इस पहली जीत में अहम भूमिका निभाई. लेकिन, कप्तान रोहित शर्मा इस मुकाबले में भी बल्ले से फ्लॉप रहे.

पहली जीत के बाद इस युवा खिलाड़ी के कायल हुए कप्तान Rohit Sharma

 Rohit Sharma statement After 44 IPL Match
Rohit Sharma statement After 44 IPL Match

राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ मिली इस पहली जीत के बाद पोस्ट मैच प्रजेंटेशन पर बातचीत करते हुए कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने कहा,

“हम ऐसे ही खेलते हैं. हमारी खिलाड़ियों में इसी तरह की क्षमता है. हमें पता था कि यहां बल्लेबाज़ी आसान नहीं है लेकिन, हमारी टीम में जिस तरीके के बल्लेबाज़ हैं वह मैच को हमारे पक्ष में लेकर आ सकते हैं. हम शायद शुरुआत इसी टीम के साथ खेलते. बस गेंदबाज़ी में कुछ बदलाव होते. इस पिच पर गेंद थोड़ी सी रूक कर आती है. इस तरह की पिच पर हम जिस टीम के साथ खेल रहे थे वह काफ़ी अच्छा था.

हमारे दोनों युवा स्पिनर काफ़ी अच्छे हैं. वह रिस्क लेने से नहीं डरते हैं. मैंने जब कहा शौकीन को कहा कि आप बटलर को गेंदबाज़ी करो तो वह इसके लिए एकदम तैयार खड़े थे. भले ही उस ओवर में उन्हें कुछ सिक्सर लगे लेकिन, उन्होंने बटलर को आउट कर दिया. जिसके कारण राजस्थान 15-20 रन कम बना पाई. हमारे बल्लेबाज़ों ने भी काफ़ी बढ़िया बल्लेबाज़ी की.”