rishabh pant rohit sharma

IND vs SL: भारतीय टीम के कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने अपनी कप्तानी से काफी प्रभावित किया है. टीम इंडिया का कप्तान बनने के बाद लगातार सीरीज जीतने का सिलसिला जारी है. वेस्टइंडीज को हराने के बाद श्रीलंका को टी20 और टेस्ट में धूल चटाई. टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत (Rishabh Pant) अपने शॉट सिलेक्शन के लिए हमेशा से चर्चा में रहे हैं. पंत खराब शॉट खेलकर अपना अनोमल विकेट गंवा देते थे. वही कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने बताया कि उन्हें टीम की तरफ से ये दो सलाह दी गई थी. जिससे वो अपनी पारी से बिल्ड कर सके.

Rohit Sharma ने पंत को दी गई थी ये दो सलाह

Rishabh Pant IND vs SL Post Match Bangalore

केटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत (Rishabh Pant) धुआंधार बल्लेबाजी के लिए जाने जाते है. पंत ने अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के दम पर कई बार भारतीय टीम को मुश्किलों से बाहर निकाला है, लेकिन वो बल्लेबाजी करते समय जल्दबाजी कर जाते हैं और अपनी विकेट विपक्षी टीम को देते हैं. उससे बचने के लिए उन्हें टीम इंडिया की तरफ से सलाह दी गई थी.

रोहित ने यह भी बताया कि पंत से हालात और पिच को देखते हुए बल्लेबाजी करने के लिए कहा गया था. पंत ने टीम बात मानते हुए श्रीलंका के खिलाफ इसी रणनीति को अपनाया. जिसमें पंत काफी हद तक सफल भी रहे. श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट मैच में पंत ने बड़ी सूझबूझ के साथ बल्लेबाजी की और सबसे अधिक रन भी बनाए. जिसके लिए पंत को श्रीलंका के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की सीरीज में प्लेयर आफ द सीरीज चुना गया.

‘हम उसे स्वाभाविक खेल दिखाने की देना चाहते हैं फ्रीडम’

Rohit Sharma on 2nd test winning and rahane-pujara replacement
Rohit Sharma on 2nd test winning

ऋषभ पंत (Rishabh Pant) टीम के सबसे युवा बल्लेबाज हैं. जिन्होंने अपनी बल्लेबाजी से लोगों को अपना दीवाना बनाया हुआ है. एक समय था जब लोग वीरेंद्र सहवाग की बल्लेबाजी देखना पसंद करते थे,क्योंकि उनके खेलने का स्टाइल सबसे अलग था. ऐसा ही कुछ ऋषभ पंत के साथ है. पंत हर बॉल को बाउंड्री की सैर कराना चाहते हैं. ये उनका स्वाभाविक खेल है. उनके स्वाभाविक खेल को लेकर कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma)  ने कहा कि,

हमें पता है कि वह कैसे बल्लेबाजी करता है और एक टीम के रूप में हम उसे स्वाभाविक खेल दिखाने की फ्रीडम देना चाहते हैं। लेकिन उससे कहा गया है कि मैच की स्थिति और पिच को भी ध्यान में रखे।’ उन्होंने कहा, ‘वह बेहतर होता जा रहा है। कई बार ऐसा भी होता है कि आप सिर पीटने लगते हैं कि उसने ऐसा शॉट क्यों खेला लेकिन हमें उसे उसी रूप में स्वीकार करना होगा, जैसे वह खेलता है।’