rohit

भारत-श्रींलका के बीच निदहास ट्रॉफी का पहला मुकाबला आज यानि मगंलवार को कोलंबो में खेला जाएगा। श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड देश की आजादी के 70 वर्ष पूरे होने के अवसर पर टी-20 ट्राई सीरीज का आयोजन कर रहा है। सीरीज में भारत-बांग्लादेश और श्रीलंका टीम भाग ले रही हैं।

भारतीय टीम पहली बार किसी टी-20 ट्राई सीरीज में भाग ले रही है। इस बार टीम में कई युवा चेहरों को भी जगह दी गई है। वहीं पिछले मुकाबलों के आधार पर भारतीय टीम को टूर्नामेंट में मजबूत टीम के रूप में आंकी जा रहा है। लेकिन इसी बीच निदहास ट्रॉफी में टीम के कप्तान रोहित शर्मा ने दोनों ही टीमों को लेकर बड़ा बयान दिया है।

टी-20 में कोई भी टीम कमजोर और मजबूत नहीं होती

dm 171001 CRIC INDvAUS 5TH ODI ROHIT PC 1 1

निदहास ट्रॉफी में टीम की कमान रोहित शर्मा के हाथों में होगी। वहीं टीम की जीत और रणतीति तय करने की भी जिम्मेदारी होगी। लेकिन इसी बीच रोहित शर्मा ने दोनों टीमों को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि, ”टी-20 मैच में कभी भी कुछ हो सकता है। खेल के इस सबसे छोटे  फार्मेट में कोई भी टीम कमजोर और मजूबत नहीं होती है।”

हर पल बदलता हैं मैच का रूख

Rohit Sharma of India leaves the field after getting out7

रोहित शर्मा ने बातचीत करते हुे कहा कि टी-20 मैचों में हार पल मैच का रूख बदलता रहता है। कोई भी टीम एक  साथ मजूबत स्थिति में नहीं रह सकती है। जब हमें लगता है कि मजबूत स्थित में है तो अगले ही ओवर में रूख बदल जाता है। रोहित शर्मा का मानना है कि टी-20 में कभी भी कुछ हो सकता है। कप्तान रोहित शर्मा ने कहा,

”टी-20 में खेल एक ओवर में ही अपना रूख बदल देता है। एक समय में किसी टीम को लगता है कि वो विपक्षी टीम पर हावी हैं। लेकिन दूसरे ही पल मैच उसके हाथ से निकल जाता है। यहां कोई भी टीम किसी को भी हरा सकती है। हां ये है कि कोई टीम मजबूत हो सकती है। लेकिन कोई भी टीम किसी को हराने की क्षमता रखती है।” 

मैं बहुत भाग्यशाली हूं

Rohit Sharma adidas cricket mindset captain Whats Your Gameplan

निदहास ट्रॉफी के लिए टीम चयनकर्ताओं ने युवा चेहरों का खास तवज्जो दी है। कई सीनियर प्लेयर्स पर खेल का दबाव कम करने के लिए उन्हें आराम दिया है। ऐसे में टीम में रोहित शर्मा,शिखर धवन और रैना के आलावा टीम में सभी युवा चेहरे हैं।

जब रोहित से पूछा गया कि आपको एक नई टीम मिली हैं इस बारे में आप क्या सोचते हैं। रोहित शर्मा ने इस सवाल  का जवाब देते हुए कहा कि, ”इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता की नए खिलाड़ी टीम में हैं। मैं बड़ा भाग्यशाली हूं कि टीम की आगुवाई करने का मुझे मौका मिला है। मैच के व्यस्त शेड्यूल की वजह से खिलाड़ियों को आराम देना भी जरूरी है। जब भी हमेंं टीम की कप्तानी की कमान मिलती हैं तो मैं अपने आपको काफी भाग्यशाली समझता हूं।”

युवा खिलाड़ियों को मौका देना सही सोच

593

रोहित शर्मा ने कहा कि टीम में जिन खिलाड़ियों को जगह दी गई है उनका घरेलू मैचों में शानदार प्रदर्शन रहा है। इसी आधार से उन्हें टीम में जगह दी गई है।, ”एक टीम के लिए यह बेहद जरूरी है कि हम अपने बैच स्ट्रेंथ को अजमाकर देखें। ये खिलाड़ी इंडिया ए,रणजी और दलीप ट्रॉफी में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। इस वजह से इन्हें इस दौरे के लिए चुना गया है। सीरीज में मौका देकर खिलाड़ियों की काबिलियत को परखना चाहते हैं। आईसीसी के इवेंट में मौका न देकर इस तरह की सीरीज में खेलाना अच्छी सोच हैं।”

 श्रीलंका के कप्तान ने पहले ही टेके घुटने 

DENICHE

बता दे कि भारत बनाम श्रीलंका के बीच निदहास ट्रॉफी का पहला मुकाबला आज शाम 7ः00 बजे से खेला जाएगा। लेकिन इसे पहले ही श्रीलंका के कप्तान ने अपने घुटने टेक दिए हैं। कप्तान दिनेश चंडीमल ने कहा कि, ”जिस तरह से भारतीय टीम का प्रदर्शन रहा है,उसे देखते हुए भारत की युवा और दूसरे दर्जे की टीम को भी हरा पाना हमारे लिए आसान नहीं होगा।”

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *