Rohit Sharma

रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की अगुवाई में भारतीय टीम विरोधी के सिर पर तांडव करती हुई नजर आ रही है। रोहित शर्मा की अगुवाई में भारतीय टीम के अंदर खूब सारे बदलाव देखने के लिए मिल रहे हैं। हिटमैन टीम में घरेलू क्रिकेट और आईपीएल में अच्छा करने वाले युवा प्लेयर्स को मौका दे रहे हैं। लेकिन एक ऐसा बदकिस्मत खिलाड़ी है जिसकी तरफ कोच राहुल द्रविड और रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ध्यान नहीं दे रहे। ऐसे में इस खिलाड़ी के टेस्ट करियर पर पावरब्रेक लगते हुए दिखाई दे रहा है….

इस खिलाड़ी की किस्मत का ताला नहीं खोल पाए Rohit Sharma

Bhuvneshwar kumar

मौजूदा समय में श्रीलंका के खिलाफ चल रही सीरीज में भारत के एक घातक गेंदबाज को जगह नहीं मिल पाई है। बता दें कि, इस खिलाड़ी ने अपनी गेंदबाजी के दम पर भारत को चैंपियंस ट्रॉफी दिलाई थी। लेकिन अब भारतीय टीम के कोच राहुल द्रविड़ और कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) भी इस खिलाड़ी की बंद किस्मत का ताला नहीं खोल पा रहे हैं। हम बात कर रहे हैं भारतीय टीम के धांसू गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार की।

भुवनेश्वर कुमार को श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में खेलने का मौका नहीं मिल पाया है। अपने खराब प्रदर्शन के चलते भुवनेश्वर कुमार पिछले तीन सालों से टीम इंडिया से बाहर चल रहे हैं। वह कभी टीम इंडिया के तेज गेंदबाजी आक्रमण के अगुआ थे। लेकिन धीरे-धीरे वह अपनी लय खोते चले गए और उनकी जगह कई उन युवा खिलाड़ियों ने ले ली जिन्होंने आईपीएल और घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन किया है।

भारत को दिला चुके हैं चैंपियंस ट्रॉफी

bhuvneshwar kumar

साल 2014 में भुनेश्वर ने अपनी गेंदबाजी के दम पर भारतीय टीम को चैंपियंस ट्रॉफी दिलाई थी। उस साल उन्होंने दुनिया को अपनी धुआंधार गेंदबाजी का नजारा पेश किया था। लेकिन कुछ समय बीतने के बाद उनकी गेंदबाजी की चमक फीकी पड़ने लगी और सेलेक्टर्स ने उन्हे नजरअंदाज करना शुरू कर दिया। वह साउथ अफ्रीका दौरे में टीम इंडिया की हार के कारणों में से एक थे। उनकी गेंदों में वह धार नजर नहीं आ रही थी, जिसके लिए वो जाने जाते हैं।

उस दौरे में उन्होंने एक भी विकेट नहीं चटकी। साउथ अफ्रीका में जहां जसप्रीत बुमराह और शार्दुल ठाकुर रन बचाने की कोशिश कर रहे थे। वहीं भुवनेश्वर कुमार खूब रन लुटा रहे थे। उनकी इस बेकार प्रदर्शन की वजह से उन्हे अफ्रीका के खिलाफ तीसरे वनडे मैच में बाहर का रास्ता दिखाया गया था। अपने खराब प्रदर्शन के कारण वह इस स्थिती में पहुंच गए हैं कि उन्हें टीम में जगह नहीं मिल रही है।