rohit sharma

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) कोरोना वायरस से संक्रमित हैं और अब ये साफ हो चुका है कि वह इंग्लैंड-भारत के बीच खेले जाने वाले 5वें टेस्ट मैच से बाहर हो चुके हैं। उनकी जगह जसप्रीत बुमराह कप्तानी संभालते नजर आएंगे। लेकिन अभी सबसे बड़ी मुश्किल ये है कि रोहित शर्मा की गैरमौजूदगी में शुभमन गिल के साथ ओपनिंग कौन करेगा? ऐसे में भारत के पूर्व तेज गेंदबाज अजीत अगरकर चाहते हैं कि चेतेश्वर पुजारा या हनुमा विहारी पारी की शुरुआत करें।

Rohit Sharma की जगह इन खिलाड़ी को ओपनिंग करते हुए देखना चाहते हैं अजीत

Ajit Agarkar

भारत के पूर्व अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी अजीत अगरकर ने कहा कि अगर शर्मा शुक्रवार से शुरू हो रहे एजबेस्टन टेस्ट के लिए समय पर फिट नहीं होते हैं तो वह पुजारा या हनुमा विहारी को गिल के साथ बल्लेबाजी करते हुए देखना चाहेंगे। अगरकर ने सोनी स्पोर्ट्स द्वारा आयोजित एक वर्चुअल बातचीत में कहा,

“मुझे पता है कि केएस भरत ने अभ्यास मैच में कुछ रन बनाए। टीम प्रबंधन की शायद इस पर नजर होगी कि टीम में शामिल होने के बाद मयंक अग्रवाल कितने तैयार हैं। मुझे नहीं पता कि उसके पास इस एकमात्र टेस्ट की तैयारी के लिए पर्याप्त समय है या नहीं। रोहित के आइसोलेशन में, मेरा मानना ​​​​है कि अनुभव ओपनिंग में मदद करेगा, चाहे वह विहारी हो या पुजारा, जो लंबे समय से आसपास रहे हैं।”

अजीत ने मयंक अग्रवाल के बारे में कही ये बात

KL Rahul-mayank Agrawal

अजीत अगरकर ने अपने बयान में मयंक अग्रवाल के बारे में आगे बात करते हुए कहा है कि,

“विहारी पहले ही दो बार भारत के लिए ओपन कर चुकी है। तो, यह मेरी पसंद होगी, उन दो में से एक अगर मयंक पूरी तरह से तैयार नहीं दिखता है क्योंकि उसके पास नेट्स में पर्याप्त समय नहीं है और स्पष्ट रूप से अब कोई (अभ्यास) गेम नहीं मिलने वाला है। मेरी राय में, थोड़ा और अनुभव के साथ जाना बेहतर है क्योंकि यह वन-ऑफ टेस्ट है।”

Rohit Sharma की गैरमौजूदगी में ये खिलाड़ी कर सकते हैं ओपनिंग

Rohit Sharma Corona Positive

कप्तान रोहित शर्मा कोरोना संक्रमित हैं और वह 5वें टेस्ट से बाहर हो चुके हैं। ऐसे में भारत टीम में चेतेश्वर पुजारा, केएस भरत या मयंक अग्रवाल जैसे अन्य विकल्पों की ओर देख सकता है। दरअसल, शुभमन गिल के साथ ओपनिंग कौन करेगा, इसका फैसला तो टीम मैनेजमेंट पर होगा। लेकिन इस बात में कोई संदेह नहीं है कि रोहित का टीम से बाहर होना भारत के लिए एक बड़ा झटका है.