Rishabh Pant

भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे चौथे व आखिरी टेस्ट मैच में भारतीय क्रिकेट टीम के युवा विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत (Rishabh Pant) ने कमाल की बल्लेबाजी करते हुए टेस्ट करियर का तीसरा शतक लगाया। पंत की कमाल की पारी की चारों ओर खूब तारीफ हो रही है। इस बीच पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर इंजमाम उल हक ने तो Rishabh Pant को लेफ्टी वीरेंद्र सहवाग करार दिया है।

Rishabh Pant को प्रेशर से नहीं पड़ता फर्क

Rishabh Pant

भारत के युवा विस्फोटक बल्लेबाज Rishabh Pant ने इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी टेस्ट मैच की पहली पारी में कमाल की विस्फोटक पारी खेली। पंत ने अपने शतक को पूरा करने के लिए 118 गेंदों का सामना किया, जिसमें 13 चौके और 2 छक्के लगाए। पंत का खेलने का अंदाज विस्फोटक है और अक्सर उनकी तुलना भारत के पूर्व दिग्गज इंजमाम उल हक ने पंत की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा,

 “ऋषभ पंत पर प्रेशर का कोई असर नहीं पड़ता है। 146 पर 6 विकेट गिरने के बावजूद ऐसा लगा कि जैसे कोई बल्लेबाज पारी की शुरुआत कर रहा हो। पारी की शुरुआत में भी कोई ऐसा नहीं खेलता। यह खिलाड़ी दबाव मुक्त होकर अपना स्वाभाविक खेलता है। स्पिन और फॉस्ट बॉलर दोनों को निशाना बनाता है।”

पंत को बताया लेफ्टी सहवाग

इंजमाम उल हक ने ऋषभ पंत की तुलना वीरेंद्र सहवाग के साथ की। उनका कहना है कि वह वीरेंद्र सहवाग की तरह ही बल्लेबाजी करते हैं, क्योंकि सहवाग को भी पिच, बॉलर से फर्क नहीं पड़ता था। इंजमाम उल हक ने आगे अपने बयान में कहा,

“सहवाग को भी कोई फर्क नहीं पड़ता था कि पिच कैसी है, बॉलिंग कैसी है। बाउंड्री पर खिलाड़ी होने के बावजूद वह अपना नेचुरल स्ट्रोक खेलता था। पंत ने सिर्फ भारत में ही बल्कि ऑस्ट्रेलिया में भी रन बनाए हैं। सालों बाद ऐसा खिलाड़ी देखा है। पंत को खेलते हुए देखने पर ऐसा लगता है कि लेफ्टी सहवाग बल्लेबाजी कर रहा हो।”

ऋषभ पंत हैं विस्फोटक बल्लेबाज

Rishabh Pant

टीम इंडिया के युवा विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत का स्वभाविक खेल बेहद विस्फोटक है। इस बल्लेबाज ने अब तक भारत के लिए तीन टेस्ट शतक लगाए हैं और ये भारतीय सरजमीं पर उनका पहला शतक था। बताते चलें, ऑस्ट्रेलिया दौरे पर Rishabh Pant ने भारत के लिए सर्वाधिक रन बनाए थे। इसके बाद वह जारी टेस्ट सीरीज में लगातार अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैं और चौथे टेस्ट मैच में शतक लगाया है। अब तक पंत ने 19 टेस्ट मैच में 1257 रन बनाए हैं।