20 02 2020 rishabh pant sad sit 20047154

क्रिकेट के गलियारों में इस वक्त भारतीय क्रिकेट टीम के युवा विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत की ही चर्चा हो रही है। पंत ने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर खेली गई टेस्ट सीरीज में भारत को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई। सिडनी और गाबा टेस्ट मैच के हीरो रहे ऋषभ पंत को इन दो मैचों से पहले काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा है। अब पंत ने खुद खुलासा किया है कि वह आलोचनाओं से बचने के लिए क्या करते थे।

आपको खुद पर करना होता है भरोसा

ऋषभ पंत

युवा विकेटकीपर-बल्लेबा ऋषभ पंत ने भारत को बॉर्डर-गावस्कर सीरीज जिताने में जी जान लगा दी और आखिर में भारत ने 2-1 से सीरीज को अपने नाम कर लिया। गाबा टेस्ट में पंत ने जिस प्रकार मैच विनिंग पारी खेली, उसके लिए चारों तरफ उनकी तारीफें हो रही हैं। मगर इससे पहले पंत काफी दबाव में थे, उन्हें सीमित ओवर टीम से ड्रॉप कर दिया गया था और साथ ही वह एडिलेट टेस्ट की प्लेइंग इलेवन का भी हिस्सा नहीं थे। अब पंत ने ‘इंडिया टुडे’ से कहा,

‘मैं हर दिन दबाव महसूस कर रहा था, यह मेरे खेल का हिस्सा है। एक व्यक्ति के तौर पर आपको खुद पर भरोसा होना चाहिए।  मैं भाग्यशाली था कि मेरे आसपास कुछ लोग थे जिन्होंने मुझे खुद पर विश्वास करते थे और उन्होंने कहा बस कड़ी मेहनत करते रहो।”

सोशल मीडिया के करण मुश्किल होता है फोकस करना

ऋषभ पंत ने आगे इस बात को स्वीकार किया है कि सोशल मीडिया के चलते उन्हें कई बार अपने खेल पर फोकस करने में समस्या होती है। उन्होंने कहा,

“अगर आप आगे बढ़ रहे हैं तो इसका मतलब यह है कि आप सुधार कर रहे हैं। इस मुश्किल समय में मैंने यही सीखा है। अपने खेल पर इतना ध्यान केंद्रित करें कि आपको कुछ और नजर न आए। सोशल मीडिया की वजह से कई बार ऐसा करना मुश्किल होता है लेकिन मैंने खुद को इससे अलग कर लिया है।”

क्रिकेटर की जिंदगी का हिस्सा है आलोचना

ऋषभ पंत

युवा विकेटकीपर-बल्लेबा ऋषभ पंत को अक्सर खराब शॉट खेलकर आउट होने के चलते या फिर विकेटकीपिंग में की गई गलतियों के कारण क्रिकेट फैंस की आलोचनाओं का सामना करना पड़ता रहा है। मगर सिडनी व गाबा टेस्ट में उनके खेल ने मानो उनकी सारी गलतियां माफ करा दी हैं और चारों तरफ सिर्फ उनकी तारीफ हो रही है। पंत ने ‘इंडिया टुडे’ से कहा,

“जब आप अच्छा कर रहे हैं तो लोग अच्छा लिखेंगे, लेकिन जब आप अच्छा नहीं करेंगे तो वे आपकी आलोचना करेंगे। ये क्रिकेटर के जिंदगी का हिस्सा बन चुका है। इसलिए यदि आप आलोचना पर ध्यान केंद्रित नहीं करते हैं और इसके बजाय अपने क्रिकेट पर ध्यान केंद्रित करते हैं। मैं बेहतर अनुमान लगाता हूं।”