ऋषभ पंत

तिरुवंतपुरम टी20 मैच में टीम इंडिया को निराशाजनक हार का सामना करना पड़ा. मैच के दौरान विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत से कैच छूट गया. इसके बाद एक बार फिर दर्शकों ने उन्हें ट्रोल करना शुरु कर दिया, जिसपर कप्तान विराट कोहली ने मैदान पर ही दर्शकों को शांत रहने को कहा. विराट के बाद अब वेस्टइंडीज के दिग्गज ब्रायन लारा भी ऋषभ पंत के टैलेंट की तारीफ करते नजर आए हैं.

अपनी गलतियों से लेनी चाहिए पंत को सीख

ऋषभ पंत

स्टार स्पोर्स्ट के ‘नेरोलैक क्रिकेट लाइव’ शो में ब्रायन लारा ने कहा,

“ऋषभ पंत युवा है और उसके पास भरपूर एनर्जी है जिसके साथ वह आईपीएल और वह भारत के लिए खेलता है. लेकिन हर तरफ से पंत को आलोचनाओं का सामना करना पड़ता है. वह 21 साल के ही हैं.

मैंने उन्हें आईपीएल के दौरान काफी करीब से देखा और वह अपनी गलती करते रहे. ऐसे में क्रिकेट के पंडित आपकी आलोचना करना शुरु कर देते हैं इसलिए आपको अपनी गलतियों से सीखना चाहिए.”

“यकीन मानिए मुझे एहसास नहीं हुआ कि वह 21 साल का है, मुझे लगा कि वह 24 या 25 साल का है, क्योंकि उस उम्र तक आप अपने खेल में मैच्योर हो चुके होते हैं और 27-30 साल की उम्र तक आप बेस्ट गेम खेलते हैं.

ऋषभ पंत हैं अलग तरह के खिलाड़ी

ऋषभ पंत
ऋषभ पंत

ब्रायन लारा ने आगे कहा,

अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में काफी उत्सुकता के साथ ऋषभ पंत ने कदम रखा था. इंडियन फैंस उनके खेलने की आक्रमक शैली के कायल है. इसलिए सभी को लगा की वो जल्दी ही टीम धोनी की जगह भर देंगे लेकिन वो बहुत ही अलग खिलाड़ी हैं.

मुझे पता है कि विश्व कप के लिए अभी 8 या 9 महीने का समय बाकी है और वे एक और विकेटकीपर के साथ जा सकते हैं लेकिन पंत पर अत्यधिक दबाव अनावश्यक है.

कार्ल हूपर की तरह हैं ऋषभ पंत

कार्ल हूपर

इस तरह कोहली के बयान की तारीफ करते हुए लारा ने कहा,

“पंत का समर्थन करने पर कप्तान विराट कोहली से सहमत हूं क्योंकि यह एक बहुत ही सफल भारतीय टीम है और मुझे याद है कि 30 साल पहले वेस्टइंडीज की टीम में हम लोग थे जो वहां अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रहे थे लेकिन उन्हें टीम में रखा गया था क्योंकि टीम बहुत अच्छा कर रही थी अच्छी तरह से और हमारे पास सभी महान खिलाड़ी थे.

लेकिन आपने कभी गूस लोगी या कार्ल हूपर के बारे में नहीं सुना क्योंकि वे ऐसा नहीं कर रहे थे लेकिन उन्हें परिपक्व होने की अनुमति थी और मुझे लगता है कि ऋषभ पंत को परिपक्व होने की अनुमति दी जानी चाहिए।”