rishabh pant-irfan

भारतीय टीम के मौजूदा युवा विकेटकीपर और बल्लेबाज ऋषभ पंत (Rishabh Pant) बीते कुछ महीनों से लगातार सोशल मीडिया से लेकर क्रिकेट गलियारों की में अपने प्रदर्शन को लेकर छाए हुए हैं. हर दिग्गज और क्रिकेट एक्सपर्ट उनकी खेल तकनीकि से प्रभावित हुआ है. इसी बीच टीम इंडिया के पूर्व भारतीय ऑलराउंडर खिलाड़ी इरफान पठान (irfan pathan) ने उनकी तारीफ में जमकर कसीदे पढ़े हैं.

युवा बल्लेबाज की तारीफ में इरफान ने पढ़े कसीदे

rishabh pant

भारतीय युवा बल्लेबाज के बारे में पूर्व ऑलराउंडर का कहना है कि, उन्होंने अब तक बेखौफ अंदाज में बल्लेबाजी की है. ये बड़ी वजह है कि, लोगों की टेस्ट फॉर्मेट में खासा दिलचस्पी बढ़ी है. मुझे नहीं लगता कि इस बात से कोई भी सहमत नहीं होगा. उन्होंने तो ये भी कहा कि, जो कारनामे कभी एडम गिलक्रिस्ट (Adam Gilchrist) ऑस्ट्रेलिया टीम के लिए करते थे वही जिम्मेदारी अब युवा बल्लेबाज टीम इंडिया के लिए कर रहा है. 7वें नंबर पर आकर वो मैच की पूरी दिशा ही पलट देते हैं. इस बारे में स्टार स्पोर्ट्स के शो पर बातचीत करते हुए इरफान पठान ने कहा कि,

“ऋषभ पंत (Rishabh Pant) की बेखौफ अंदाज में  बल्लेबाजी और उन्हें बीते कुछ टेस्ट सीरीज में मिली सफलता की वजह से फैंस और दर्शकों की टेस्ट क्रिकेट में खासा रूचि बढ़ी है. इस फॉर्मेट की तरफ लोग आकर्षित हो रहे हैं. जो काफी ज्यादा जरूरी था.

पिछली कुछ सीरीज में उन्होंने बतौर बल्लेबाज ही नहीं बल्कि विकेटकीपर के तौर पर भी अपने खेल में ज्यादा सुधार किया है. इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज में कई अहम पारियां खेलने के साथ उन्होंने भारत को डब्ल्यूटी में पहुंचाने में अहम योगदान दिया”.

भारतीय विकेटकीपर ने अपने खेल में किया काफी बदलाव

photo 2021 06 20 11 58 47

ऋषभ पंत (Rishabh Pant) के टेस्ट करियर की बात करें तो उन्होंने पहली बार साल 2018 में टेस्ट डेब्यू किया था. इसके बाद  इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्हीं की सरजमीं पर टेस्ट में शतक ठोकने वाले वो पहले भारतीय विकेटकीपर बने थे. लेकिन, इसके बाद वो अपने प्रदर्शन को निरंतर सही नहीं रख सके और बीच में उन्हें बैट से काफी संघर्ष करते हुए देखा गया. इसका असर उनकी टीम में जगह को लेकर भी देखा गया.

पिछले साल एडिलेड टेस्ट मैच से भी वो बाहर थे. हालांकि इसके बाद दूसरे टेस्ट मैच में उन्होंने बतौर विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा की जगह ली. इसके बाद तो उन्होंने लोगों को ऐसा प्रभावित किया कि, फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा. हर मैच में उनके बल्ले ने एक अलग ही रोमांच दिखाना शुरू किया है. ऐसे में इरफान पठान को इस बात की खुशी है कि युवा बल्लेबाज को टीम मैनेजमेंट और कप्तान का मुश्किल वक्त में पूरा साथ मिला.

साहा को रिप्लेस करना आसान नहीं था- पठान

photo 2021 06 20 11 59 00

इस सिलसिले में आगे बातचीत करते हुए पूर्व भारतीय ऑलराउंडर ने कहा कि,

‘ऋषभ पंत (Rishabh Pant) ने टीम के लिए बीते साल में कुछ महत्वपूर्ण पारियां खेलीं और जीत के हीरो रहे. ये करना इतना आसान नहीं होता है. जब कप्तान और टीम का आप पर पूरा यकीन होता है, तभी ये संभव हो पाता है कि आप खुलकर खेलते हैं. एक दौर था जब साहा टीम के नंबर-1 विकेटकीपर थे और उन्हें रिप्लेस करना किसी के लिए भी आसान नहीं था. ये बड़े खिलाड़ियों की निशानी है’.

पंत ने विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के तहत खेले 11 टेस्ट में 41 से ज्यादा के औसत से 662 रन बनाए. इसमें 1 शतक और 4 अर्धशतक शामिल हैं.