Ricky Ponting refused Team India coach- BCCI
Ricky Ponting refused Team India coach- BCCI

ICC T20 World Cup 2021 का 17 अक्टूबर से आगाज हो रहा है उससे पहले बीसीसीआई (BCCI) ने टीम इंडिया के मुख्य कोच के लिए रिकी पॉन्टिंग (Ricky Ponting) से बातचीत की थी. दरअसल इस मेगा इवेंट के बाद रवि शास्त्री का कार्यकाल खत्म हो रहा है. ऐसे में लगातार कोच पद को चर्चाएं जारी थी. हालांकि मीडिया की ओर से किए जा रहे दावों की माने तो राहुल द्रविड़ ने इस कमान को संभालने के लिए हामी भर दी है. वहीं रिकी पॉन्टिंग ने बोर्ड को क्या जवाब दिया था इसके बारे में हम आपको अपनी इस खबर के जरिए बताने जा रहे हैं.

ऑस्ट्रेलियाई पूर्व क्रिकेटर के सामने भारतीय बोर्ड ने कोच की रखी थी पेशकश

 Ricky Ponting refused coach

बताया जा रहा है कि, भारतीय बोर्ड के इस प्रत्साव को पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने सीधा ठुकरा दिया है. मौजूदा समय में वो आईपीएल फ्रेंचाइजी दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) में मुख्य कोच के तौर पर अपनी सेवा दे रहे हैं. उनके नेतृत्व में दिल्ली टीम पिछले दो सीजन से प्लेऑफ में जगह बनाने में कामयाब रही है. इससे पहले बीते साल दिल्ली आईपीएल 2020 की उप-विजेता भी बनी थी. टाइम्स ऑफ इंडिया के हवाले से आई एक रिपोर्ट के मुताबिक रिकी पॉन्टिंग (Ricky Ponting) के मना करने की वजह का खुलासा नहीं हुआ है.

एक सूत्र ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि, “राहुल एकमात्र आदर्श उम्मीदवार थे. चुनौती उन्हें इसके लिए राजी करने की थी. सच कहा जा, तो कोई दूसरा विकल्प नहीं है.” वहीं बात करें कंगारू टीम के पूर्व कप्तान की तो साल 1995 में और राहुल द्रविड़ ने 1996 में डेब्यू किया था और दोनों ही खिलाड़ियों ने 2012 में संन्यास की घोषणा की थी. दोनों अपने समय के दिग्गज खिलाड़ी थे. पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट ने जहां अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर 71 शतक के साथ 27, 483 बनाए हैं. वहीं द्रविड़ ने 48 शतक की मदद से 24 हजार से ज्यादा रन ठोके हैं.

यह भी पढ़ें- रिकी पोटिंग ने कहा दिल्ली कैपिटल्स में मैंने मार्कस स्टोइनिस की भूमिका कर दी है साफ

राहुल द्रविड को कोच बनने पर मिल सकती है इतनी सालाना सैलरी

Team India coach Rahul Dravid

रिकी पॉन्टिंग (Ricky Ponting) को लेकर आ रही खबरों में कितनी सच्चाई है इसके बारे में कुछ खास दावा नहीं किया जा सकता. लेकिन, द्रविड़ की बात करें तो पहले वो भारत के हेड कोच बनने के लिए तैयार नहीं थे. लेकिन, बीसीसीआई की ओर से काफी मनाने के बाद उन्होंने इसके लिए हामी भरी है. टीम इंडिया के महान खिलाड़ियों में से एक रहे 48 वर्षीय द्रविड़ बीते 6 सालों से भारत ए और अंडर -19 प्रणाली के प्रभारी हैं. इस समय वो बेंगलुरु स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (NCA) के प्रमुख है.

जानकारी की माने तो रवि शास्त्री को बोर्ड की तरफ से लगभग साढ़े 8 करोड़ रुपये सैलरी के तौर पर मिलती है. ऐसे में बोर्ड द्रविड़ को भी बड़ी रकम की पेशकश कर रहा है जो उनके एनसीए पारिश्रमिक के साथ-साथ शास्त्री के मौजूदा वेतन से कहीं ज्यादा होगा. जिस तरह की रिपोर्ट्स सामने आ रही है उसके मुताबिक राहुल द्रविड़ को 10 करोड़ रुपये सालाना सैलरी के तौर पर दिया जा सकता है.

यह भी पढ़ें- Rahul Dravid को टीम इंडिया के कोच बनने पर कितनी मिलेगी सैलरी? कब तक रहेंगे टीम के कोच